वैट कम करने का प्रस्तावः छत्तीसगढ़ में कम हो सकते हैं पेट्रोल और डीजल के दाम

वाणिज्य कर मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती को लेकर रिपोर्ट जल्दी मुख्यमंत्री को भेजा जाएगा। छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्यों में कीमतों को लेकर रिपोर्ट मंगाई गई है।

रायपुर (Raipur)। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel)की कीमतों में कमी कर जनता को राहत देने के लिए प्रस्ताव बनाया जा रहा है। अगर ऐसा हुआ तो एक और बड़ी राहत मिलेगी। इसलिए कि केंद्र सरकार (central government) ने दिवाली पर देशवासियों को बड़ी सौगात देते हुए पेट्रोल-डीजल पर लगने वाला एक्साइज ड्यूटी (excise duty) घटाने का ऐलान कर दिया है। सरकार ने डीजल पर 10 और पेट्रोल पर पांच प्रतिशत टैक्स माफ करने की पहल की है।

इसलिए केंद्र सरकार की ओर से छूट मिलने के बाद कई राज्यों (states) ने अपने हिस्से का टैक्स माफ करने का आदेश जारी किया है। इधर छत्तीसगढ़ में भी इसकी कीमतों में कमी के लिए प्रस्ताव बनाया जा रहा है। उक्त बातें वाणिज्य कर मंत्री टीएस सिंहदेव ने राजनांदगांव रवाना होने से पहले मीडिया से कहीं।


मुख्यमंत्री को रिपोर्ट जल्द भेजा जाएगा

मंत्री सिंहदेव ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती को लेकर रिपोर्ट जल्दी मुख्यमंत्री (Chief Minister) को भेजा जाएगा। छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्यों में कीमतों को लेकर रिपोर्ट मंगाई गई है। सिंहदेव ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार बड़ी होशियारी कर रही है। एक्साइज ड्यूटी के अलावा सेस ले रही है। राज्यों को कुछ नहीं बांट रही है। एक्साइज ड्यूटी कम करने से राज्यों का हिस्सा प्रभावित होगा।

राज्यों के हिस्से की राशि कम कर थपथपा रही पीठ

डॉ. सिंहदेव ने कहा एक्साइज ड्यूटी का एक बड़ा हिस्सा करीब 40 से 42 प्रतिशत उसमें कटौती की गई है। राज्यों के हिस्से की राशि कम कर केंद्र सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है। सिंहदेव ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने मुख्यमंत्री को एक प्रस्ताव जल्द ही भेजा जाएगा। एक दिन पहले ही बैठक हुई है।

एक दिन पहले सीएम भूपेश ने साधा था केंद्र सरकार पर निशाना
बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक दिन पहले ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा था कि 30 रुपए बढ़ाकर 5 रुपए कम करके वाहवाही लूट रहे हैं। यूपीए सरकार की तरह एक्साइज ड्यूटी 30 रुपए से घटाकर 9 रुपए करके केंद्र सरकार दिखाए। सीएम ने कहा था कि प्रदेश में पूर्व की भाजपा सरकार ने जो रेट तय किया था, उसमें हमने एक पैसा की भी वृद्धि नहीं की है।
(TNS)