सरकार ने ‘सौंदर्य क्रीम’ पर खर्च किए 3 अरब से ज्यादा रुपये


रायपुर।
तीन साल पहले सत्ता में आई कांग्रेस सरकार ने आम जनता से अपनी पीठ थपथपाने के लिए तीन अरब रुपये से ज्यादा खर्च कर दिए। राज्य सरकार ने सत्ता में आने के बाद 3 अरब, 15 करोड़, 32 लाख, 32 हजार 166 रुपये विज्ञापन के लिए जारी किए। जिसमें सरकार के प्रचार-प्रसार के लिए रखी गई कंपनी का खर्च शामिल नहीं है। दिसंबर 2018 से 17 नवंबर 2021 तक कुल 1 हजरा 82 दिनों में सरकार ने हर दिन औसतन 29 लाख 14 हजार 262 रुपये जारी किए हैं।

जनसंपर्क विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार प्रिंट मीडिया को 1 अरब 64 करो़ड़ 90 लाख 71 हजार 882 रुपये विज्ञापन के लिए जारी किए गए। इनमें वर्गीकृत विज्ञापनों के लिए 48 करोड़ 56 लाख 61 हजार 010 रुपये जारी किए गए। प्रदर्श विज्ञापनों के लिए 1 अरब 16 करोड़ 34 लाख 10 हजार 872 रुपये जारी किए गए। वहीं विभिन्न वेबसाइटों को 14 करोड़ 38 लाख 66 हजार 726 रुपये विज्ञापन के लिए जारी किए। न्यूज़ चैनलों को 79 करोड़ 62 लाख 34 हजार 249 रुपये और सिनेमा को 1 करोड़ 23 लाख 85 हजार 923 रुपये जारी किए गए।

राज्य सरकार ने केबल टीवी को 95 लाख 98 हजार 045 रुपये और रेडियो पर विज्ञापन के लिए 8 करो़ड़ 50 लाख 54 हजार 934 रुपये जारी किए। राज्य सरकार ने सोशल मीडिया यानी ट्वीटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर विज्ञापन के लिए 1 करोड़ 43 लाख 74 हजार 960 रुपये जारी करने के साथ चौक-चौराहों पर लगे होर्डिंग के लिए 44 करो़ड़ 26 लाख 45 हजार 447 रुपये जारी किए।

राज्य से ज्यादा बाहर के प्रिंट मीडिया को विज्ञापन
जनसंपर्क विभाग के आंकड़ों के अनुसार 1 दिसंबर 2018 से 31 मार्च 2019 तक छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य की प्रिंट मीडिया को 12.68 करोड़ रुपये और इसी समयसीमा में राज्य से बाहर के अख़बार और पत्र-पत्रिकाओं को 18.19 करोड़ रुपये के विज्ञापन जारी किए। राज्य की इलेक्ट्रानिक मीडिया को 3.64 करोड़ और राज्य से बाहर की इलेक्ट्रानिक मीडिया को 97.08 लाख रुपये जारी किए गए।

2019-20 में विज्ञापन का हाल
1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020 तक छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने राज्य की प्रिंट मीडिया को 34.29 करोड़ रुपये और राज्य से बाहर की प्रिंट मीडिया को 12.62 करोड़ रुपये का विज्ञापन जारी किया। सरकार ने राज्य की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 23.59 करोड़ और राज्य से बाहर की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 8.97 करोड़ रुपये जारी किए। इस दौरान सोशल मीडिया के लिए साल भर में 23.50 लाख रुपये जारी किए गए।

वर्ष 2020-21 में बढ़ा खर्च
एक अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक राज्य सरकार ने विज्ञापनों के लिए जारी होने वाली राशि में बढ़ोत्तरी की। राज्य के भीतर प्रिंट मीडिया के लिए पिछले साल के 34.29 करोड़ रुपये के मुकाबले 41.11 करोड़ रुपये, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए 23.59 करोड़ रुपये के मुकाबले 26.06 करोड़ और सोशल मीडिया के 23.50 लाख के मुकाबले 71.20 लाख रुपये जारी किए गए। राज्य से बाहर की पत्र-पत्रिकाओं को भी 2020-21 में पिछले साल के मुकाबले लगभग दोगुना पैसा दिया गया। छत्तीसगढ़ से बाहर की प्रिंट मीडिया को पिछले साल के 12.62 करोड़ के मुकाबले इस वषर् 21.04 करोड़, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 8.97 करोड़ के मुकाबले 11.00 करोड़ रुपये दिए।

2021-22 यानी खर्च अभी जारी है
1 अप्रैल 2021 से 17 नवंबर 2021 तक के 230 दिनों में प्रिंट मीडिया को 27.41 करोड़, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 12.69 करोड़ और सोशल मीडिया को 49.04 लाख रुपये विज्ञापन के नाम पर दिए गए हैं।
राज्य से बाहर किए गए खर्च की बात करें इन 230 दिनों में प्रिंट मीडिया को 13.22 करोड़ रुपये और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 3.41 करोड़ रुपये दिए गए।