प्रचंड गर्मी की वजह से श्रीकृष्ण जन्मभूमि में दर्शन का समय बदला, जानिए सुबह शाम किस समय होंगे दर्शन

कोरोना को देखते हुए अब वृंदावन के विश्व प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में श्रद्धालुओं को मास्क लगाकर ही दर्शन करने को मिलेंगे।

श्री बांके बिहारी जी। - फाइल फोटो

मथुरा। अक्षय तृतीया पर बांके बिहारी के चरण दर्शन के लिए भक्तों का जन सैलाब उमड़ने वाला है। मगर, इससे पहले दर्शन व्यवस्था को लेकर मंदिर प्रशासन ने दो नए बदलाव किए हैं। आने वाले दिनों में अगर श्रीकृष्ण जन्मभूमि दर्शन करने का प्लान बना रहे हैं, तो इस काम की खबर को जरूर पढ़ लें। घर से निकलने से पहले जन्मभूमि के मंदिरों का टाइम टेबल एक बार नोट कर लें।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के अनुसार ग्रीष्मकाल में श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर स्थित सभी मंदिरों के दर्शन का समय बदला गया है। श्रीभागवत भवन और अन्य मंदिरों में सुबह 6:30 बजे से दोपहर 12:30 बजे दर्शन होंगे, जबकि शाम को दर्शन का समय चारी बजे से रात नौ बजे तक का रहेगा। श्रीगर्भ-गृह जी मंदिर में प्रात: 6:30 बजे से रात नौ बजे तक दर्शन होंगे।

वहीं, बढ़ते कोरोना को देखते हुए अब वृंदावन के विश्व प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में श्रद्धालुओं को मास्क लगाकर ही दर्शन करने को मिलेंगे। अक्षय तृतीया पर मंदिर में प्रवेश और निकास वन वे रखा गया है। बताते चलें कि अक्षय तृतीया पर साल में एक बार बांके बिहारी के चरण दर्शन होते हैं। इस दिन बांके बिहारी को चंदन लगाया जाता है और उनके चरणों मे चंदन का लड्डू रखा जाता है। भगवान के सर्वांग दर्शन के लिए अक्षय तृतीया पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु वृंदावन आते हैं।

यूपी से महाराष्ट्र तक हीट वेव अपना कहर बरपा रही है। बीते दिन राजस्थान के श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 46.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उधर, मौसम विभाग (IMD) ने अनुमान जताया है कि आने वाले चार-पांच दिनों तक तापमान काफी अधिक रहने वाला है। इस बीच, बिजली कटौती ने भी लोगों को संकट में डाल दिया है. हालांकि, गर्मी से जल्द राहत मिलने की उम्मीद नहीं दिख रही है।