ब्रिज तैयार : दुर्ग-भिलाई-रायपुर वासियों के लिए राहतभरी खबर

रायपुर-भिलाई के बीच अक्सर कुम्हारी, पावरहाउस, सुपेला जैसी जगहों पर ट्रैफिक जाम की स्थिति बनती है। स्थिति को देखते हुए इन व्यस्ततम स्थानों पर फ्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है।

भिलाई। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सबसे अधिक ट्रैफिक (Traffic) वाले मार्ग में लोगों को बड़ी राहत (Rahat) मिलने वाली है। दुर्ग से रायपुर के बीच बनाए जा रहे चार ओवरब्रिजों (Over Bridge) में से एक ब्रिज पर काम लगभग 90 प्रतिशत से अधिक पूरा हो चुका है। कल शनिवार की शाम से दोपहिया वाहनों को यहां से गुजारा गया।

आप को बता दें कि रायपुर और दुर्ग के बीच चौबीसों घंटे हजारों की संख्या में लोगों का आना-जाना होता है। वहीं प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में हैवी गाड़ियां (heavy vehicles) चलती हैं। ऐसे में प्रतिदिन किसी न किसी चौकों पर जाम लगता है। दुर्घटनाएं (accidents) होती रहती हैं। इसलिए चार जगहों पर ओवर ब्रिज बनाए जा रहे हैं।

सालों से परेशान लोगों का समय होता है बर्बाद
ट्रैफिक जाम की समस्या से सालों से जूझ रहे रायपुर-भिलाई-दुर्ग (Raipur-Bhilai-Durg) के बीच आने-जाने वालों को आखिरकार राहत मिल गई है। इसी के तहत कुम्हारी में बनाए जा रहे ओवर ब्रिज का काम लगभग पूरे होने को है। शनिवार की शाम से छोटी गाड़ियों का आना-जाना शुरू कराया गया था। रविवार की शाम 4 बजे से ट्रैफिक शुरू करा दिया गया है। अधिकारियों का कहना है हालांकि काम पूरा नहीं होने की वजह से अभी केवल ट्रैफिक जाम की स्थिति में ही ब्रिज को आवागमन के लिए खोला जाएगा।

सबसे अधिक यहां पर लगता है जाम

रायपुर-भिलाई के बीच अक्सर कुम्हारी, पावरहाउस, सुपेला जैसी जगहों पर ट्रैफिक जाम की स्थिति बनती है। स्थिति को देखते हुए इन व्यस्ततम स्थानों पर फ्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है। इनमें से कुम्हारी फ्लाईओवर पर रविवार से आवाजाही शुरू करा दी गई है।


स्थिति देखने कलेक्टर पहुंचे ओवरब्रिज

बता दें कि कलेक्टर (Collector) डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने शनिवार को कुम्हारी ओवरब्रिज का निरीक्षण (Inspection) किया था। इस दौरान उन्होंने ओवरब्रिज को आवागमन (traffic) के लिए छोटी गाड़ियों के लिए खोलने का निर्देश दिए थे। इसके बाद रविवार को कार और टू व्हीलर जैसी लाइट व्हीकल के लिए एक तरफ का रास्ता खोल दिया गया है। इस दौरान पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर, कंस्ट्रक्शन कंपनी के अधिकारियों से चर्चा कर कलेक्टर ने ओवर ब्रिज के शेष कामों के बारे में समीक्षा की।
(TNS)