नक्सलियों पर प्रहार : दो अलग-अलग घटनाओं में एक पांच लाख का इनामी खल्लास, जबकि आठ इनामी गिरफ्तार

दीपावली के दूसरे दिन बस्तर में सुरक्षा बलों को मिली बड़ी सफलता, एक घटना दंतेवाड़ा की तो दूसरी सुकमा की

बस्तर। दीपावली के एक दिन बाद सुरक्षा बल बस्तर में नक्सलियों पर हावी रहे। दंतेवाड़ा में जहाँ डीआरजी (डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड) के जवानों ने पांच लाख के इनामी नक्सली को मार गिराया, वहीं दूसरी ओर सुकमा में कोबरा बटालियन और जिला पुलिस के जवानों ने 8 नक्सलियों को दबोच लिया।

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार शाम डीआरजी के जवान सर्चिंग कर रहे थे। इसी बीच करीब छह बजे इंद्रावती क्षेत्र में पहले से मौजूद नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया। इसके जवाब में जवानों ने भी फायरिंग की। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल में भाग गए। घटना स्थल की छानबीन में 5 लाख के इनामी नक्सली रामसू का शव पाया गया। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने इसकी पुष्टि की। एसपी के अनुसार मारा गया नक्सली प्लाटून नंबर 16 में सेक्शन कमांडर के रूप में सक्रिय था। जवानों ने घटना स्थान से एक पिस्तौल, 5 किलो आईईडी भी बरामद की है।

सुरक्षा बलों को दूसरी सफलता सुकमा में मिली। यहाँ भी कोबरा बटालियन और जिला पुलिस के जवान एकसाथ सर्चिंग पर निकले थे। जंगल में सर्चिंग के दौरान कुछ लोग पुलिस को देखकर भागने लगे। इस पर जवानों ने घेराबंदी कर उन्हें दबोच लिया। पड़ताल में पता चला कि सब नक्सली हैं और कुछ पर इनाम भी घोषित है।

सुकमा एसपी सुनील शर्मा के मुताबिक गिरफ्तार कवासी राजू उर्फ संतू आठ लाख रुपए का इनाम है। वहीं कमलू माड़ा पांच लाख रुपए, कोमरान कल्ला, मड़कम हिड़मा, तुरसम मुदराज और मड़कम एक्का पर एक-एक लाख रुपए का इनाम है। इनमें मड़कम सोमा व मड़कम मुत्ता सक्रिय मिलिशिया सदस्य हैं। गिरफ्तार सभी नक्सली चिंतलनार, भेज्जी व गोलापल्ली क्षेत्र के निवासी हैं।

(TNS)