टिकट कटने से नाराज भाजपा नेत्री ने शीर्ष नेताओं पर लगाए गंभीर आरोप, कहां- यह सभी कांग्रेस के लिए कर रहे हैं काम 

BJP Leader Suman Unni
BJP Leader Suman Unni

भिलाई। नगर निगम भिलाई के चुनाव में टिकट वितरण को लेकर रविवार को बड़ा बवाल हुआ। सुपेला गदा चौक के पास उस वक्त माहौल बिगड़ गया जब भाजपा की एक महिला कार्यकर्ता ने शीर्ष नेताओं के सामने हंगामा खड़ा कर दिया। टिकट न मिलने से नाराज उक्त भाजपा नेत्री ने शीर्ष नेताओं पर कांग्रेस से सांठगांठ का तक का आरोप लगाया। यहां तक की भाजपा नेत्री ने सांसद संतोष पाण्डेय, पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय आदि के सामने कुर्सियां तक उठा कर फेंक दिया।

वैसे तो टिकट वितरण को लेकर भाजपा के कई दावेदारों में नाराजगी की बात सामने आई है लेकिन आज सुपेला में भाजपा कार्यालय के शुभारंभ के मौके पर वार्ड 65 सेक्टर-10 से दावेदारी करने वाली सुमन उन्नी ने शीर्ष नेताओं टिकट वितरण में धांधली का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इस मौके पर काफी असंतुष्ठ दावेदार थे लेकिन बवाल के बीच वे खामोशी से तमाशा देखते रहे।

इस पूरे मामले में सुमन उन्नी ने काफी बेबाक दिखी और उन्होंने सीधे शीर्ष नेताओं पर कांग्रेस से सांठगांठ करने का आरोप लगाया। सुमन उन्नी का कहना है कि भिलाई निगम चुनाव में संभागीय समिति के सभी सदस्य कांग्रेस को जीत दिलाने का काम कर रहे हैं। भाजपा से नाम तय होने के बाद टिकट काटने का आरोप लगाते हुए सुमन उन्नी से भाजपा के शीर्ष नेता पर उनके समर्थकों को टिकट देने का आरोप लगाया।

सुमन उन्नी का कहना है कि वार्ड 65 को सामान्य महिला सीट घोषित किया गया लेकिन भाजपा ने यहां से ओबीसी कैंडीडेट को टिकट दिया। सामान्य सीट पर ओबीसी कैंडीडेट को टिकट देना समझ से परे है जबकि भाजपा के लिए पूरे समर्पण के साथ 31 वर्षों से काम किया। सुमन उन्नी ने यह भी कहा कि भाजपा शीर्ष नेताओं ने वार्ड 65 से कांग्रेस प्रत्याशी को जीत दिलाने के लिए डमी प्रत्याशी को मैदान में उतारा है।

सुमन उन्नी ने यह भी कहा कि भिलाई के एक कद्दावर भाजपा नेता के कहने पर उनका टिकट अंतिम समय पर काटा गया। इसके पीछे सीधे तौर पर कांग्रेस नेत्री को लाभ पहुंचाना ही बड़ा कारण है। भाजपा नेत्री ने यह भी कहा कि वे इस लड़ाई को खत्म नहीं करेंगी। निर्दलीय के रूप में पर्चा दाखिल किया है और वे पूरे दमखम के साथ चुनाव लडेंगी। भाजपा नेत्री ने कहा कि वे टिकट वितरण में हुई इस गड़बड़ी को केन्द्रीय नेतृत्व तक ले जाएंगी।