देखें तस्वीरें : “रन फॉर सीजी प्राइड”, मुख्यमंत्री सहित प्रदेश ने लगाई दौड़, सीएम बोले – “कका अभी ज़िंदा हे।  

रायपुर।  “रन फॉर सीजी प्राइड” (दौड़ स्वाभिमान और गर्व की) के लिए रायपुर के गांधी उद्यान पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल। मुख्यमंत्री ने  युवाओं में जोश भरते हुए कहा – “कका अभी ज़िंदा हे।  जो हमने नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने का संकल्प लिया था उसे हमने पूरा किया।  आज सिर्फ़ तीन साल में छत्तीसगढ़ में विकास का नया मॉडल बना। हमने विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल से गुजरात मॉडल को पीछे ढकेला है।

कोरोना संकट के बावजूद छत्तीसगढ़ में सभी का विकास हुआ है। छत्तीसगढ़ पिछले तीन साल से स्वच्छतम प्रदेश का पुरस्कार ले रहा है. हमें 67 राष्ट्रीय पुरस्कार मिले है।  ‘रन फॉर सीजी प्राइड’ (दौड़ स्वाभिमान और गर्व की) को आज सुबह 7 बजे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजधानी रायपुर के गाँधी उद्यान से हरी झंडी दिखाकर प्रारंभ किया।

छत्तीसगढ़ में आगामी 17 दिसंबर को नई सरकार के गठन को तीन साल पूरे हो रहे हैं। इन तीन वर्षों में अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं लागू कर और संस्कृति की समृद्धि की दिशा में नई पहल कर राज्य सरकार ने एक नया छत्तीसगढ़ मॉडल देश-दुनिया के सामने रखा है।

इससे छत्तीसगढ़ सरकार ने छत्तीसगढ़िया स्वाभिमान की नई अलख जगाई है। ऐसे मौके पर आज ‘रन फॉर सीजी प्राइड’ (दौड़ स्वाभिमान और गर्व की) का आयोजन किया गया, जिसमें हज़ारों की संख्या में लोगों ने छत्तीसगढ़ स्वाभिमान की दौड़ लगाई।

दौड़ को मुख्य रूप से दो श्रेणियों में बांटा गया है, इसमें एक 5 किलोमीटर की दौड़ महिला-पुरुष श्रेणी में होगी। इसमें 14 वर्ष से 60 वर्ष तक के आयु वर्ग के लोग शामिल हुए। इस वर्ग के प्रतिभागियों के लिए जयस्तंभ चौक, कोतवाली चौक, पी.डब्लू.डी. चौक (मजार चौक), इनकम टैक्स कॉलोनी तिराहा और शहीद भगत सिंह चौक को चेक पॉइंट बनाया गया है। जिसमें प्रथम पुरस्कार 21 हजार रुपए, द्वितीय पुरस्कार 15 हजार रुपए, तृतीय पुरस्कार 11 हजार रुपए व चतुर्थ से दसवें स्थान तक 21 सौ रुपए पुरस्कार राशि रखी गई है। वहीं वरिष्ठ नागरिक व 14 साल से कम उम्र के बच्चों की एक श्रेणी रखी गई है। इस वर्ग में 14 वर्ष से कम तथा 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोग हिस्सा ले सकेंगे।

इनके लिए कलेक्टर चौक, राजभवन चौक के आगे सी.जी. आर.आर.डी.ए., इनकम टैक्स कॉलोनी तिराहा और शहीद भगत सिंह चौक को चेक पॉइंट बनाया गया है। जिसमें प्रथम पुरस्कार 11 हजार रुपए, द्वितीय पुरस्कार सात हजार रुपए एवं तृतीय पुरस्कार पांच हजार रुपए प्रदान किया जाएगा। इस तरह इन दोनों वर्गों के प्रतिभागियों को अलग-अलग दूरी तय करनी होंगी। इसके साथ ही फोटोग्राफी, स्लोगन, रील प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जा रहा है।