ओमिक्रोन की दहशत : अमेरिका से लौटे दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव, बाकी की जानकारी जुटा रहा स्वास्थ्य विभाग

स्वास्थ्य अमले का मानना है कि जिले में ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमित मरीज अब तक नहीं मिला है, जो एक बड़ी राहत की बात है, लेकिन जिस तरह से विदेश से लौट रहे लोग बिना जांच कराए अपनी पहचान छुपाए घर पहुंच रहे हैं वह घातक साबित हो सकता है।

बिलासपुर (Bilaspur)। ओमिक्रोन (Omicron) से तीसरी लहर (third wave) की आशंका (fears) में विदेश (Foreign) से आने वालों की विशेष निगरानी की जा रही है। इसी के तहत हाल ही में विदेश से लौटे लोगों की जांच की गई, तो दो लोगों के कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव (corona report positive) आई है। रिपोर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग (health Department) में हड़कंप (stir) मच गया है।

आगे स्थिति न बिगड़े इसके लिए स्वास्थ्य विभाग पखवाड़े भर से लौटे विदेश यात्रियों की जानकारी जुटाने में लगा हुआ है। विदेश से आने वाले नागरिकों की पहचान (Identification) कर उनका आरटीपीसीआर टेस्ट (RTPCR Test) करने और होम आइसोलेट करने का काम कर रही है। वहीं जो लोग अपनी पहचान छुपा रहे हैं उन पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश जिला प्रशासन (district administration) ने दे दिया है।

57 में से 15 नागरिकों की पहचान कर आरटी पीसीआर टेस्ट लिया
बता दें कि विदेश के बाद अब कर्नाटक में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से संक्रमित मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। यही वजह है कि बिलासपुर में पिछले एक पखवाड़े में विदेश से 57 यात्री आए हैं, इनमें से 15 नागरिकों की पहचान कर उनका आरटी पीसीआर टेस्ट किया गया है।

42 लोगों की तलाश में स्वास्थ अमला
इसमें 27 नवंबर को यूनाइटेड स्टेट (United States) अमेरिका (America) से बिलासपुर लौटे 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें एक रेलवे ऑफीसर्स कॉलोनी निवासी 59 वर्षीय महिला तो दूसरा खमतराई रोड निवासी 30 वर्ष का युवक शामिल है। इधर विदेश से लौटे 42 लोगों की पहचान अब तक स्वास्थ विभाग नहीं कर पाया है। हालांकि विभाग जल्द ऐसे लोगों को ट्रेस कर उनका आरटी पीसीआर टेस्ट और होम आइसोलेट करने में लगा हुआ है। जो लोग अपनी पहचान छुपा रहे हैं या फिर कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं उन पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

हवाई अड्डे से आने वालों की ट्रेसिंग
बता दें कि आगे स्थिति न बिगड़े इसके लिए कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट नजर आ रहा है। अधिकारियों का कहना है कि हवाई अड्डे (airport) से आने वालों की लिस्ट के मुताबिक उनकी ट्रेसिंग (tracing) की जाती है। साथ ही विभाग की टीम लगातार उनकी मॉनिटरिंग कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने लोगों से अपील की है कि वे कोरोना गाइडलाइन का पालन करें, ताकि इसे बढ़ने से रोका जा सके।

ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमित मरीज नहीं मिलने से राहत
स्वास्थ्य अमले का मानना है कि जिले में ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमित मरीज अब तक नहीं मिला है, जो एक बड़ी राहत की बात है, लेकिन जिस तरह से विदेश से लौट रहे लोग बिना जांच कराए अपनी पहचान छुपाए घर पहुंच रहे हैं वह घातक साबित हो सकता है। लिहाजा विदेश से लौट रहे नागरिकों को ट्रेस कर स्वास्थ विभाग के लिए टेस्टिंग करना बड़ी चुनौती है।

(TNS)