पूजा अर्चना के साथ प्रदेश में धान खरीदी शुरू

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आज एक दिसंबर से समर्थनू मूल्य में धान खरीदी शुरू हो गई। सुबह से जनप्रतिनिधियों के साथ किसानों और सहकारी समिति और खरीदी केंद्र के कर्मचारियों ने तराजू और धान की पूजा-अर्चना कर खरीदी की शुभारंभ किया। पहले दिन धान खरीदी का शुभारंभ करने के लिए खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने रायपुर जिले के मंदिर हसौद, पारा गांव और महासमुंद जिले के बिरकोनी, कापा, पटेवा व झलप के धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण किया।

22.66 लाख पंजीकृत किसान प्रदेश में
समर्थन मूल्य पर धान खरीदी बुधवार को शुरू हो गई। इस खरीफ वर्ष में लगभग 22.66 लाख पंजीकृत किसानों से 2,399 सहकारी समितियों के माध्यम से धान उपार्जन किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा पंजीकृत किसानों से लगभग 105 लाख मीटरिक टन धान खरीदी का अनुमान है। खाद्य अधिकारियों ने बताया कि धान के साथ मक्का की खरीदी भी होगी। जहां एक दिसंबर से 31 जनवरी 2022 तक धान की खरीदी होगी वहीं एक दिसंबर से 28 फरवरी 2022 तक मक्का की खरीदी की जाएगी।

नोडल अधिकारी नियुक्त
प्रदेश में धान खरीदी सुचारू रूप से संचालित करने नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। इन नोडल अधिकारियों द्वारा प्रतिदिन धान खरीदी तथा अन्य व्यवस्था व समस्याओं से संबंधित स्थितियों की मॉनिटरिंग की जाएगी। यदि इन नोडल अधिकारियों के प्रभार वाले खरीदी केन्द्रों में गड़बड़ी पाई जाती है तो इसके लिए नोडल अधिकारी जवाबदेह होंगे। इसके अलावा राज्य के किसानों के ही उत्पाद खरीदी केन्द्रों में आए इसे ध्यान में रखते हुए राज्य सीमाओं के संवेदनशील क्षेत्रों में चेक-पोस्ट लगाकर पुलिस, राजस्व एवं खाद्य विभाग की संयुक्त टीम द्वारा कड़ी निगरानी की जा रही है।