एलआईसी के पॉलिसीधारक बन सकते हैं उसके शेयर होल्डर, जानिए क्या करना होगा

नई दिल्ली। अगर आप एलआईसी के पॉलिसीधारक हैं, तो अब आप उसके शेयरहोल्डर भी बन सकते हैं। दरअसल, जीवन बीमा दिग्गज ने बुधवार को एक बिल्कुल अलग तरह का विज्ञापन दिया है। इसमें कहा गया है कि पॉलिसीधारकों को अपने प्रस्तावित प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (आईपीओ) में निवेश करने के लिए कुछ पूर्व-आवश्यकताओं के बारे में सूचित किया। इसके लिए पॉलिसीधारकों को अपने पैन विवरण को अपडेट करने के साथ ही डीमैट खाते की जानकारी अपडेट करनी होगी।

बताते चलें कि वित्त मंत्रालय ने संकेत दिया है कि एलआईसी आईपीओ जारी करने के आकार का 10 प्रतिशत तक उसके पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित कर सकता है। एलआईसी अधिनियम, 1956 में इस वर्ष किए गए संशोधन के अनुसार, सरकार ने एलआईसी को भविष्य में किसी भी एलआईसी के आईपीओ में आरक्षित श्रेणियों में से एक के रूप में पॉलिसीधारकों को नामित करने की अनुमति दी है।

एलआईसी के द्वारा बुधवार को दिए गए विज्ञापन में कहा गया है कि ऐसी किसी भी सार्वजनिक पेशकश में भाग लेने के लिए पॉलिसीधारक को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि उनके पैन विवरण निगम के रिकॉर्ड में अपडेट किया है। दरअसल, जीवन बीमा प्रमुख पॉलिसीधारकों से अपने पैन को अपने रिकॉर्ड में अपडेट करने का आग्रह करते हुए अभियान चला रहा है। विज्ञापन में कहा गया है कि यह यह केवाईसी के नजरिए से और साथ ही एलआईसी द्वारा प्रस्तावित सार्वजनिक पेशकश में भाग लेने की आपकी क्षमता के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण है। इसका इस्तेमाल आपको प्रस्तावित पेशकश में भाग लेने में मदद के लिए किया जाएगा।

पॉलिसी धारक को अपना पैन, पॉलिसी नंबर, जन्म तिथि और ईमेल आईडी दर्ज करनी होगी। यदि आप ऑनलाइन मोड के साथ सहज नहीं हैं, तो आप प्रक्रिया को पूरा करने के लिए एजेंट से संपर्क कर सकते हैं। एलआईसी यह सुनिश्चित करना चाहता है कि उसके पॉलिसीधारक केवाईसी को पूरा करते हैं और इसलिए आईपीओ के लिए आवेदन करने के योग्य हैं। यदि पॉलिसीधारकों के लिए कोई आरक्षण है, तो उन्हें इसे छोड़ना नहीं चाहिए।

इसके साथ ही यदि आप एलआईसी के आईपीओ या सामान्य रूप से पूंजी बाजार में निवेश करने के इच्छुक हैं, तो आपको एक डीमैट एकाउंट भी खोलान होगा। पॉलिसीधारकों को शेयरों में निवेश के जोखिम को जानना चाहिए और अगर यह उनके निवेश के उद्देश्य के अनुरूप नहीं है तो इससे बचना चाहिए। डीमैट खाता अब बहुत महंगा नहीं है, लेकिन यदि आप सिर्फ एलआईसी के आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं, तो भी इसका कोई मतलब नहीं है।

अगर आप बेहद रूढ़िवादी निवेशक हैं, जिन्होंने कभी इक्विटी मार्केट में निवेश नहीं किया है, तो आपको सावधानी से चलने की जरूरत है। एलआईसी के पास एक विशाल ग्राहक आधार और प्रतिष्ठा है। लोग एलआईसी में निवेश करेंगे, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि वे इक्विटी के साथ आने वाले जोखिमों को समझें। एलआईसी के आईपीओ में निवेश के लिए ध्यान रखें कि उसकी कीमत सही हो, समय अवधि लंबी हो और आपके पास एक विविध पोर्टफोलियो हो।