जम्मू-कश्मीर : अब नहीं चलेगी तीन परिवारों की दादागीरीः गृहमंत्री शाह

जम्मू-कश्मीर के लाखों लोगों को अपने अधिकार प्राप्त हुए। जम्मू-कश्मीर में विकास युग शुरू हो गया है। मैं आज ये कहने आया हूं कि जम्मू कश्मीर वालों के साथ अन्याय का समय खत्म हो चुका है।

जम्मू-कश्मीर। (Jammu-Kashmir) केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद पहली बार गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Shah) की जम्मू पहुंचे हैं। वहां उनकी पहली बार जनसभा (public meeting) हो रही है। जनता को करोड़ों रुपए की सौगात दी है। उन्होंने रिसर्च सेंटर (research center) का उद्घाटन किया।

सभा में गृह मंत्री शाह ने दौरे के दूसरे दिन जनसभा में कहा कि 5 अगस्त 2019 को प्रधानमंत्री मोदी जी ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए अनुच्छेद 370 और 35ए को खत्म किया। इससे जम्मू-कश्मीर के लाखों लोगों को अपने अधिकार प्राप्त हुए। जम्मू-कश्मीर में विकास युग शुरू हो गया है। मैं आज ये कहने आया हूं कि जम्मू कश्मीर वालों के साथ अन्याय का समय खत्म हो चुका है।

प्रधानमंत्री (Prime minister) मोदी ने की विकास की बाधा दूरः शाह
अमित शाह ने कहा कि 5 अगस्त 2019 को प्रधानमंत्री मोदी ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए अनुच्छेद 370 और 35ए को खत्म किया। इससे जम्मू-कश्मीर के लाखों लोगों को अपने अधिकार प्राप्त हुए। अब भारतीय संविधान के सभी अधिकार यहां के सभी लोगों को मिल रहे हैं।

रिसर्च सेंटर का उद्घाटन
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आईआईटी जम्मू पहुंचे। इस दौरान उन्होंने रिसर्च सेंटर का किया उद्घाटन। उन्होंने कहा कि यह सेंटर छात्रों के लिए काफी मददगार सबित होगा। पूरे सेंटर में वाईफाई की सुविधा दी जाएगी।

पहले यहां भूमि खरीदने का अधिकार नहीं था

गृह मंत्री ने कहा कि पहले जम्मू में सिखों, खत्रियों, महाजनों को भूमि खरीदने का अधिकार नहीं था। जो शरणार्थी वहां से यहां आए थे, उनके अधिकार नहीं थे

जम्मू-कश्मीर में सात नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना

अमित शाह ने कहा आज जम्मू-कश्मीर में अब सात नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना हो चुकी है। पहले 500 विद्यार्थी यहां से MBBS कर सकते थे, अब लगभग 2,000 विद्यार्थी यहां MBBS कर पाएंगे। बहुआयामी अनुसंधान केंद्र को सप्तऋषि के नाम से जाना जाएगा। सप्तऋषि में अत्याधुनिक उपकरणों से युक्त सात प्रयोगशालाएं चलाई जाएंगी।

तीन परिवार मुझसे सवाल पूछ रहे थे कि क्या देकर जाओगे?’

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अब नहीं चलेगी तीन परिवारों की दादागीरी। कल ये तीन परिवार वाले मुझसे सवाल पूछ रहे थे कि क्या देकर जाओगे? भाई मैं तो हिसाब लेकर आया हूं, मगर 70 साल तीन परिवार वालों ने जम्मू-कश्मीर में राज किया, आपने क्या दिया इसका हिसाब लेकर आओ। आज जम्मू-कश्मीर हिसाब मांग रहा है।

विकास के लिए 55,000 करोड़ का पैकेज दिया
अमित शाह ने कहा कि मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए 55,000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया था। विकास की 21 योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। आज हर गांव में ग्राम पंचायत बनी है