बिरगांव चुनावः बुर्का में पहुंची मतदाता पर आई आपत्ति तो बुर्का हटाकर की जाएगी जांच

रायपुर। प्रदेश के चुनावी समर में ऐसा पहली बार हो रहा है कि किसी मतदान केंद्र में बुर्का में पहुंचने वाली महिलाओं की जांच के लिए आयोग द्वारा महिला अधिकारियों की तैनाती की गई हो। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि भाजपा ने यहां बुर्के की आड़ में फर्जी मतदान की आशंका व्यक्त करते हुए बुर्का हटाकर मतदान कराने की मांग आयोग से की थी। आयोग ने बुर्का हटाने का आदेश तो नहीं दिया, लेकिन भाजपा की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आदेश जारी किया है कि अगर बुर्का में मतदान करने पहुंची महिला मतदाता के फर्जी होने की आपत्ति दर्ज कराई जाती है तो उसकी जांच की जाएगी। इसके लिए आयोग ने सभी संबंधित केंद्रों में महिला अधिकारी की नियुक्ति की है, जो सिर्फ इसकी जांच करेंगी।

बतादें  कि भाजपा ने बिरगांव में चल रहे मतदान को लेकर बुर्का हटाकर मतदान कराने की मांग की है। आयाेग ने बुर्का हटाने का ताे आदेश नहीं किया है, लेकिन जिन बुर्कानशीनाें काे लेकर आपत्ति सामने आएगी उनका बुर्का जरूर हटाकर जांच हाेगी।  बिरगांव में सोमवार 20 दिसंबर को मतदान हाेगा। इसकाे लेकर प्रशासन ने जहां अपनी तैयारी की है, वहीं राजनीतिक दलाें की भी अपनी तैयारी है।

अब्दुल रउफ वार्ड पर रहेगी नजर

यहां के वार्ड नंबर 28 मो. अब्दुल रउफ के गाजीनगर के रायपुर पब्लिक स्कूल के बूथ में भाजपा के चुनाव प्रभारी अजय चंद्राकर खुद ही मोर्चा संभालेंगे। उनका कहना है, किसी भी हाल में फर्जी मतदान होने नहीं देंगे। एक भी फर्जी मतदाता पकड़ा गया तो उसके बाद मतदान रूकवाने का प्रयास होगा। साथ में सहचुनाव प्रभारी विधायक नारायण सिंह चंदेल भी रहेंगे।

चुनाव प्रभारी अजय चंद्राकर खुद संभालेंगे मोर्चा

चुनाव प्रभारी अजय चंद्राकर का कहना है, गाजीनगर के बूथ पर फर्जी मतदान की संभावना है। हमने तो इसकी शिकायत भी की, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जांच में क्या किया गया, यह तक नहीं बताया गया है। हमने निर्वाचन आयोग के बुर्के के बिना ही मतदान कराने की भी मांग की है। श्री चंद्राकर ने कहा, वे खुद और नारायण सिंह चंदेल सुबह 8 बजे से लेकर शाम तो पांच तक मतदान केंद्र पर रहेंगे। किसी भी हाल में किसी को भी फर्जी मतदान करने नहीं दिया जाएगा।