वनांचलों और ग्रामीण क्षेत्रों के हाट-बाजारों में 14.84 लाख लोगों का हुआ इलाज

रायपुर। प्रदेश के ग्रामीण इलाकों के हाट-बाजारों में स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीमों द्वारा 14.84 लाख से अधिक लोगों को इलाज मुहैया कराया गया है। हाट-बाजारों की क्लीनिक में पहुंचे 13.19 लाख मरीजों की जांच कर निःशुल्क दवाईयां दी गई हैं। मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत स्थानीय स्तर पर लोगों को इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने प्रदेश भर में अब तक कुल 49,279 हाट-बाजार क्लिनिक आयोजित किए गए हैं।

हाट-बाजार क्लिनिक में जरूरतमंदों को निःशुल्क उपचार, चिकित्सीय परामर्श और दवाईयां उपलब्ध कराने के साथ ही मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा मलेरिया, एचआईव्ही, मधुमेह, एनिमिया, टीबी, कुष्ठ रोग, उच्च रक्तचाप और नेत्र विकारों की जांच भी की जा रही है। इन क्लिनिकों में शिशुओं और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण भी किया जा रहा है। मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत अब तक एक लाख 70 हजार लोगों की मलेरिया जांच की गई है। पॉजिटिव पाए गए लोगों का उपचार भी इन क्लिनिकों में किया गया है।

योजना के अंतर्गत तीन लाख 92 हजार से अधिक लोगों के उच्च रक्तचाप, दो लाख 53 हजार लोगों की मधुमेह, 83 हजार लोगों की रक्त-अल्पता (एनिमिया) और 40 हजार लोगों के नेत्र विकारों की जांच की गई है। हाट-बाजार क्लिनिकों में 18 हजार लोगों की टीबी, पांच हजार लोगों की कुष्ठ और नौ हजार लोगों की एचआईव्ही जांच भी की गई है। इस दौरान 31 हजार से अधिक गर्भवती महिलाओं की एएनसी जांच और 2102 शिशुओं का टीकाकरण किया गया है। हाट-बाजार क्लिनिकों में डायरिया के 32 हजार पीड़ितों की भी जांच की गई है।