स्पर्श के कॉर्पोरेट दिवाली मिलन में सुशील ने बांधा गजलों से समां

उतई में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुईं कॉर्पोरेट जगत की प्रमुख हस्तियां

कार्यक्रम में प्रस्तुति देते ग़ज़ल सिंगर सुशील कुमार द्विवेदी।


भिलाई।
स्पर्श मल्टी स्पेशियल्टी हॉस्पिटल का कॉर्पोरेट दिवाली मिलन समारोह पिछले दिनों उतई में संपन्न हुआ। इस मौके पर भिलाई के जाने-माने रवायती गज़ल गायक सुशील कुमार द्विवेदी ने एक से बढ़कर एक कलाम पेश किए। इस मौके पर स्पर्श अस्पताल प्रबंधन ने कोविड काल में स्टाफ द्वारा समर्पित भाव से किए गए कार्य की प्रशंसा की।

कार्यक्रम में प्रस्तुति देते ग़ज़ल सिंगर सुशील कुमार द्विवेदी।

कार्यक्रम की शुस्र्आत अस्पताल के डायरेक्टर एंड मेडिकल सुपरीटेंडेंट डॉ. संजय गोयल ने बताया कि कोरोना के कारण न केवल आमजन बल्कि चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े लोगों का भी जीवन प्रभावित हुआ। महामारी के दौर में भी अस्पताल के स्टाफ ने भयमुक्त होकर सेवाएं दीं। तब, जब अपने भी संक्रमितों का साथ देने से कतरा रहे थे, ऐसी स्थिति में स्पर्श के स्टाफ ने जो समर्पण दिखाया, उसके लिए सभी साथी बधाई के पात्र हैं। इसके बाद अतिथियों ने माता सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर गज़ल संध्या की शुस्र्आत की।

संगीत की धुन पर नृत्य करते अतिथि।

भिलाई के रवायती गज़ल गायक सुशील कुमार द्विवेदी ने इब्राहिम अश्क़ की गज़ल ‘ख़दा का ज़िक्र करें, या तुम्हारी बात करें” से कार्यक्रम की शुस्र्आत की। इसके बाद रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ, चांदी जैसा रंग है तेरा, हुजूर आपका भी एहतराम करता चलूं, हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफ़िर की तरह, हंगामा है क्यों बरपा, दमादम मस्त कलंदर जैसी चर्चित गज़लें सुनाकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। बेहतरीन गायिकी को सुनकर श्रोताओं ने फरमाइशें भी शुरू कर दीं। इसके बाद फरमाइशी गज़लों का कार्यक्रम लंबा चला। कार्यक्रम के समापन पर श्रोताओं ने जमकर डांस भी किया।

गज़ल कार्यक्रम में खैरागढ़ संगीत विश्वविद्यालय से आए शफीक हुसैन ने सारंगी, भिलाई के दीपांकर दास ने ऑक्टोपैड, रामचंद्र सर्पे ने तबला और विनीत कराताप मिंटू ने गिटार पर संगत की। कार्यक्रम के समापन पर स्पर्श हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. दीपक वर्मा ने सभी का आभार व्यक्त किया।
(TNS)