लापरवाही : यहां के खरीदी केन्द्रों से धान का उठाव नहीं, अंकुरित हो रहा बोरों से धान

धान की बोरियों से निकलने लगे अंकुर

जगदलपुर। यहां के धान खरीदी को बुरा हाल है। सरकार ने रिकार्ड धान खरीद तो लिया है लेकिन उठाव नहीं होने के कारण यहां पड़े पड़े धान खराब हो रहा है। हालात यह हैं कि अब धान अंकुरित भी होने लगा है। यही हाल रहा तो इस धान को खेत बोने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी क्योंकी बोरों से ही इसकी फसल तैयार हो जाएगी। यहां पर सरकारी तंत्र की गंभीर लापरवाही नजर आ रही है।

यह मामला बस्तर जिले के नियानार संग्रहण केंद्र का है। इस धान संग्रहन केन्द्र का हाल यह है कि यहां पर बोरों में रखा धान अंकुरित होने लगा है। बोरों से लंबी लंबी घास उगती दिख रही है। उक्त संग्रहण केन्द्र से धान का उठाव नहीं हो रहा है इसकी वजह से यहां धान खराब हो रहा है। खासबात यह है कि इसकी जानकारी भी जिला प्रशासन को है इसके बाद भी उठाव की दिशा पहल नहीं की जा रही है।

खराब हो रही कई क्विंटल धान
नियानार धान संग्रहण केन्द्र में धान का स्टॉक हाल के दिनों में हुई बारिश के कारण खराब हो रही है। बारिश के कारण धान भीग गया है जिसके कारण बोरों से ही अंकूर निकलने लगे हैं। प्रदेश में धान खरीदी वर समर्थन मूल्य को लेकर बीजेपी और कांग्रेस लगातार आमने-सामने रहे हैं लेकिन यहां खराब होती धान को देखने वाला कोई नहीं है। इस पूरे मामले में जब कलेक्टर बस्तर रजत बंसल से बात की गई तो उन्होंने जांच का आश्वासन दिया है।