अक्षय तृतीया पर समाज को जोड़ने की अनोखी पहल, भगवान परशुराम की 21 फीट ऊंची प्रतिमा का भी होगा अनावरण

भगवान विष्णु के छठे अवतार परशुराम जी के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल होंगे।

भगवान परशुराम जयंती पर भोपाल में होने जा रहा है अक्षयोत्सव कार्यक्रम।

तीरंदाज, भिलाई। भोपाल के गुफा मंदिर धाम में पहली बार एक अनोखा आयोजन किया जा रहा है। इसमें किसी विशेष समाज का प्रतिनिधित्व नहीं होगा। तीन मई को अक्षय तृतीया के अवसर पर ब्राह्मण समाज के साथ ही सर्व समाज के लोग एक मंच पर उपस्थित होंगे। इस दिन भगवान परशुराम की जयंती है। इसलिए इसी दिन अष्टधातु से निर्मित भगवान परशुराम की 21 फीट की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा व अनावरण भी किया जाएगा।

भोपाल के पूर्व महापौर पंडित आलोक शर्मा की अगुवाई में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। भगवान विष्णु के छठे अवतार परशुराम जी के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल होंगे। जूना पीठाधीश्वर अवधेशानंद जी गिरी एवं गुफा मंदिर के महंत रामप्रवेश दास जी महाराज के सान्निध्य में प्रतिमा का अनावरण एवं प्राण प्रतिष्ठा होगी। 1100 वैदिक ब्राह्मण इस प्राण प्रतिष्ठा को संपन्न कराएंगे।

भोपाल में 3 मई को होने वाले अक्षयोत्सव कार्यक्रम की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं।

इसके पहले सुबह सात बजे 5100 महिलाएं कलश लेकर शोभायात्रा में शामिल होंगी। शोभायात्रा के बाद प्रतिमा का अनावरण और प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।

अक्षयोत्सव कार्यक्रम में भगवान परशुराम जी की इसी दिव्या प्रतिमा का अनावरण होगा।

भिलाई के प्रभंजय चतुर्वेदी देंगे प्रस्तुति
इस भव्य आयोजन में भिलाई के प्रख्यात भजन गायक प्रभंजय चतुर्वेदी भजनों की प्रस्तुति देंगे। देश-विदेश में अपनी गायकी से श्रोताओं को प्रभावित करने वाले प्रभंजय भजन सम्राट अनूप जलोटा के शिष्य हैं। उनकी टीम में देश के जाने-माने वादक शामिल हैं।

जाति नहीं, सभी होंगे सनातनी
आयोजन समिति के सदस्य पंडित अतुल शर्मा ने बताया कि इस कार्यक्रम में कोई ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य या अन्य जाति का नहीं होगा। बल्कि सभी सनातनी होंगे। इसमें सभी प्रदेश जैसे पंजाब, गुजरात, नेपाली, कश्मीरी ब्राह्मण एक साथ शामिल होंगे। साथ ही अन्य समाज जैसे राजपूत, क्षत्रिय, वैश्य और अन्य समाज के लोग भी आएंगे। इस कार्यक्रम के माध्यम से सर्व समाज को एकजुट करने का प्रयास किया जाएगा।

कार्यक्रम का उद्देश्य जाति और वर्ग का भाव ख़त्म करना
पंडित अतुल शर्मा ने बताया कि लोगों के मन से जाति और वर्ग के भाव को समाप्त करने के उद्देश्य से पहली बार इस तरह का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में देश भर से हजारों लोगों के शामिल होने का अनुमान है। इसके लिए वृहद स्तर पर तैयारी की जा रही है।