नई तकनीक से हुआ राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम, एशिया में केवल एम्स में होता है ऐसा

NEW DELHI. कॉमोडियन राजू श्रीवास्तव का आज बुधवार को दिल्ली के एम्स में निधन हो गया। उन्होंने 58 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। वह पिछले 40 दिनों से एम्स में भर्ती थे। बता दें 10 अगस्त को जिम में वर्कआउट के दौरान आए हार्ट अटैक के बाद दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। निधन के बाद राजू श्रीवास्तव का वर्चुअल अटॉप्सी से पोस्टमार्टम हुआ। इस अटॉप्सी में सीटी स्कैन और एक्स-रे करके जांच की जाती है।

फेमस कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव 58 की उम्र में ही इस दुनिया को अलविदा कह गए। दिल्ली के एक होटल में कसरत करते हुए दिल का दौरा पड़ा था। वो दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। निधन के बाद उनका राजू श्रीवास्तव पोस्टमार्टम सामान्य तरीके से न करके वर्चुअल अटॉप्सी से किया गया। दिल्ली का एम्स एशिया का इकलौता सेंटर है जहां वर्चुअल अटॉप्सी की सुविधा उपलब्ध है। पोस्टमार्टम करने का यह मॉडर्न तरीका है जिसमे किसी भी तरह की चीड़-फाड़ नहीं की जाती। एम्स में जब राजू श्रीवास्तव को लाया गया था तब वो बेहोश थे। और तब से उनके निधन तक पूरे 42 दिन वो बेहोश रहे। इसी वजह से उनका पोस्टमार्टम वर्चुअल अटॉप्सी से किया गया।

पोस्टमार्टम की नई तकनीक
एम्स के फॉरेंसिक मेडिसिन विभाग के प्रमुख डॉ सुधीर गुप्ता ने बताया कि पोस्टमार्टम की नई तकनीक वर्चुअल ऑटोप्सी से राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम किया गया है। इसमें किसी भी तरह की सर्जरी नहीं करनी पड़ी और यह 15 से 20 मिनट में हो गया। इसके बाद उनका शव परिवार को सौंप दिया गया।

जिम में आया था हार्ट अटैक
राजू को जिस जिम में हार्ट अटैक आया था उसके स्टाफ का कहना था कि जिम में राजू फिट नजर आ रहे थे। जब वो बेहोश हुए उससे काफी पहले से वो जिम में मौजूद थे। वो पूरी तरह बिल्कुल नॉर्मल नजर आ रहे थे और आराम से ट्रेडमिल कर रहे थे। लेकिन अचानक उन्हें बहुत पसीना आने लगा और वो बेहोश हो कर जमीन पर गिर पड़े। इसके तुरंत बाद राजू श्रीवास्तव को दिल्ली के एम्स अस्पताल में ले जाय गया।