स्वच्छता का जुनूनः सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ तीसरी बार भी सिरमौर

इसमें विभिन्न मापदंडों के अंतर्गत शहरी स्वच्छता का आंकलन किया जाता है। मुख्य रूप से घर-घर से कचरा एकत्रीकरण, कचरे का वैज्ञानिक रीति से निपटान, खुले में शौच मुक्त शहर, कचरा मुक्त शहर आदि का थर्ड पार्टी के माध्यम से आँकलन करते हुए नागरिकों के फीडबैक को भी इसमें शामिल किया जाता है।

, Sanitation Mission, 

रायपुर (Raipur)। केंद्र सरकार (central government) के स्वच्छ भारत अभियान (Clean India Movement) ने पूरे देश को स्वच्छता का पाठ पढ़ाया है। इसका असर छत्तीसगढ़ में दिखा। यहां ऐसा जुनून है कि सफाई में देश की सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता (Competition) में छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) ने तीसरी बार भी उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर 20 नवंबर को नई दिल्ली (New Delhi) के विज्ञान भवन  (Vigyan Bhawan) में आजादी का अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav) मनाया जाएगा। इसके अंतर्गत आयोजित स्वच्छ अमृत महोत्सव में राष्ट्रपति (President) रामनाथ कोविद जी छत्तीसगढ़ को भारत के स्वच्छतम् राज्यों की श्रेणी में पुरस्कृत (rewarded) करेंगे। भारत सरकार द्वारा आयोजित विश्व (world) की सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ ने इस बार भी बाजी मारी है।

मुख्यमंत्री व नगरीय मंत्री को मिला आमंत्रण
इससे पहले 2019 और 2020 में भी छत्तीसगढ़ ने स्वच्छता के मामले में अपनी श्रेष्ठता साबित की है। भारत सरकार की ओर से केंद्रीय मंत्री (union minister) हरदीप सिंह पुरी द्वारा मुख्यमंत्री (Chief Minister) भूपेश बघेल और नगरीय प्रशासन मंत्री (urban administration minister) डॉ. शिवकुमार डहरिया को पुरस्कार ग्रहण करने के लिए नई दिल्ली आमंत्रित (New Delhi Invited) किया है।

पुरस्कार के लिए ये है आंकलन
भारत सरकार के आवास और शहरी कार्य मंत्रालय (ministry) द्वारा हर साल देश के सभी शहरों, राज्यों के बीच स्वच्छ सर्वेक्षण का आयोजन किया जाता है। इसमें विभिन्न मापदंडों (different parameters) के अंतर्गत शहरी स्वच्छता का आंकलन किया जाता है। मुख्य रूप से घर-घर से कचरा एकत्रीकरण, कचरे का वैज्ञानिक रीति से निपटान, खुले में शौच मुक्त शहर, कचरा मुक्त शहर आदि का थर्ड पार्टी के माध्यम से आँकलन करते हुए नागरिकों के फीडबैक को भी इसमें शामिल किया जाता है। इसी आधार पर राज्यों एवं शहरों की रैंकिंग जारी कर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्यों और शहरों को पुरस्कृत किया जाता है।

61 शहरों को भी मिलेगा पुरस्कार
भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य को सूचित किया गया है कि इस वर्ष छत्तीसगढ़ ने पुनः स्वच्छता के क्षेत्र में अपना परचम लहराते हुए देश के स्वच्छ्तम राज्य के स्तर को बरकरार रखा है। छत्तीसगढ़ को न सिर्फ़ राज्य के रूप में बल्कि यहां के 61 शहरों (cities) को भी इनके उत्कृष्ट प्रदर्शन (excellent performance) के लिए पुरस्कृत किया जाएगा। छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य होगा जिसके सबसे ज्यादा निकाय पुरस्कृत किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त, भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ को देश का प्रथम ओडीएफ़ प्लस राज्य निरूपित किया गया है।

सीएम ने दी प्रदेशवासियों को बधाई
उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को बधाई दी है। सफलता का श्रेय जागरूक जनता, यहां के कर्मवीर सफ़ाई कर्मचारियों और अधिकारियों के परिश्रम को दिया है। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने भी इस सफलता के लिए राज्य की जनता द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की है।

मिलकर रखेंगे स्वच्छता का सिरमौर बरकरार
उन्होंने कहा है कि हम सभी मिलकर आगे भी छत्तीसगढ़ को स्वच्छता का सिरमौर बनाए रखेंगे। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की सचिव अलरमेलमंगई डी ने भी विभाग की ओर से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विभागीय मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया के प्रति आभार व्यक्त करते हुए आगे भी इसी प्रकार का प्रदर्शन दोहराने की बात कही है।

(TNS)