नया रायपुर किसान संघर्ष समिति के वाट्सग्रुप में सुबह-सुबह पोर्न स्टीकर पोस्ट, जातिवाद पहले से चल रहा

सुबह ग्रुप में एक मेंबर ने पोर्न फाइल पोस्ट कर दी। इस पोस्ट के बाद ग्रुप में बवाल शुरू हो गया। बाद में वह शख्स ग्रुप से लेफ्ट भी हो गया।

रायपुर। अपनी मांगों को लेकर 4 महीने से संघर्ष कर रहे किसानों के ग्रुप में आज सुबह-सुबह बवाल हो गया। इस ग्रुप में कुछ लोग जातिवाद की जहरीली फसल पहले से बो रहे थे और आज किसी ने सुबह करीब 7:10 बजे पोर्न स्टीकर पोस्ट कर दिया। इसके बाद ग्रुप में बवाल मच गया। गजब ये है कि बार-बार कहने के बाद भी समाचार लिखे जाने तक स्टीकर को हटाया नहीं गया।

नई राजधानी किसान कल्याण संघर्ष समिति द्वारा राजधानी रायपुर में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है। चार माह से इन किसानों का संघर्ष जारी है। इनके संघर्ष व सदस्यों को आपस में जोड़े रखने के लिए सोशल मीडिया मेसेजिंग एप वाट्सएप पर भी कई ग्रुप बने हुए हैं। इनमें एक ग्रुप ‘किसानसंघर्षसमितिनयारायपुर’ के नाम से भी है।

वाट्सएप ग्रुप में हैलों मैसेज के बाद आया था पोर्न मैसेज

आज सुबह ग्रुप में एक मेंबर ने पोर्न फाइल पोस्ट कर दी। इस पोस्ट के बाद ग्रुप में बवाल शुरू हो गया। किसानों के ग्रुप में इस प्रकार अचानक से पोर्न फाइल डाले जाने से ग्रुप से जुड़े लोग काफी नाराज हो गए। नाराजगी इस कदर बढ़ी कि एडमिन से उक्त पोर्न फाइल डालने वाले मेंबर पर कार्रवाई की मांग होने लगी। उक्त पोर्न फाइल को लेकर सुबह से ग्रुप में कुछ न कुछ चलता ही रहा। कुछ ने ग्रुप छोड़ दिया तो कोई स्टीकर फाइल हटाने के लिए कहता रहा।

पोस्ट के बाद माफी भी मांगी

पोस्ट करने वाले ने मांगी माफी
पोर्न फाइल पोस्ट होने के बाद यूजर ने इसके लिए माफी भी मांगी। उसने उक्त पोस्ट के लिए वाट्सग्रुप में बकायदा मैसेज डालकर माफी मांगी, लेकिन पोर्न स्टीकर नहीं हटाया। वाट्सएप पर उस शख्स ने गलती से पोस्ट हो जाने की बात कही। ग्रुप के कुछ सदस्य एडमिन से ऐसे मेंबर्स पर ध्यान देने की नसीहत दे रहे हैं।

पोर्न पोस्ट के बाद ग्रुप में मचा बवाल

जातिवाद का जहर भी घोल रहे कुछ सदस्य
किसान संघर्ष समित नया रायपुर के वाट्सएप ग्रुप में इससे पहले जातिवाद का जहर भी घुल चुका है। इस ग्रुप में शामिल कुछ सदस्यों किसानों की बात की जगह जातिवाद फ़ैलाने का काम कर रहे हैं। एसटी, एससी और सामान्य वर्ग में दरार डालने की कोशिश कर रहे हैं। यहाँ तक कि फर्जी वीडियो भी शेयर किये जा रहे हैं। जाति विशेष के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है।

एडमिन बोले- गलत विचार प्रेषित ना करें
वाट्सएप ग्रुप किसान संघर्ष समिति नया रायपुर के एडमिन केपी वर्मा ने बताया कि एक सदस्य ने पोर्न फाइल डाल दी थी। बाद में उसने गलती के लिए माफी भी मांगी। संभवत: उसने ऑल डिलीट नहीं किया, जिसके कारण वह मैसेज ग्रुप में ही रह गया। सदस्य ग्रुप से स्वयं ही लेफ्ट हो गया है। हमारी अपील है कि हम सभी किसानों के हक के लिए लड़ रहे हैं, इसलिए केवल अपनी प्राथमिकताओं पर ध्यान दें। इस प्रकार के गलत विचारों को प्रेषित ना करें।