पूरी रात डीजे के शोर से हुए परेशान तो एसपी-कलेक्टर के घर के सामने डीजे बजवाने की मांगी अनुमति

रायपुर। नवा रायपुर के राखी में बीते 12-13 दिसंबर को इतनी डीजे बजा कि उसके शोर से परेशान होकर स्थानीय लोगों ने 112 से फरियाद लगाई। लेकिन  प्रशासन से अनुमति मिलने की बात कह दिया गया। लोगों को उन्हें शोर से राहत नहीं मिली। आखिरकार परेशान होकर जागरूक नागरिकों ने 19 दिसंबर को रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार और एसपी प्रशांत अग्रवाल के निवास के सामने पूरी रात डीजे बजवाने की अनुमति मांगी है। यह अनुमति और किसी से नहीं रायपुर एसपी से ही मांग गई है। एसपी आफिस में लोगों का आवेदन लिया जा चुका है। अब इस पर आगे क्या कार्रवाई होगी यह तय नहीं है। लेकिन इस आवेदन की चर्चा सोशल मीडिया में जमकर चल रही है।

बतादें कि डीजे के कानफोड़ू आवाज से परेशान होकर रायपुर  के डा. राकेश गुप्ता, जीवेश चौबे, हरजीत जुनेजा, विश्वजीत मित्रा, ओमप्रकाश ओझा, विनयशील, ओमप्रकाश, मनजीत कौर बल एवं अन्य जागरुक लोगों ने पुलिस अधीक्षक को दिए आवदेन में बताया कि बीते 12 दिसंबर की देर शाम से शुरू होकर 13 दिसंबर की सुबह 4 बजे तक ग्राम राखी नवा रायपुर में आयोजित कार्यक्रम में ड़ीजे बजता रहा। इस डीजे की आवाज से रहवासी लोग परेशान रहे। इसकी शिकायत डायल 112 को तीन बार की गई, लेकिन हर बार वे असफल ही रहे। उनके द्वारा आयोजकों से बात की गई तो बताया गया कि उन्होंने डीजे बजाने की अनुमति ली है।

आवेदनकर्ताओं ने अपने आवेदन में बताया है कि जिस तरह 12 दिसंबर को हुए आयोजन में डीजे बजाने की अनुमति दी गई, उसी नियम के तहत हमें भी पूरी रात रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार और पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के घर के सामने 19 दिसंबर को डीजे बजाने और अन्य कार्यक्रम आय़ोजित किए जाने की  अनुमति प्रदान करें। उन्होंने आवेदन में यह भी लिखा है कि अगर यह अनुमति देने योग्य आवेदन नहीं है तो कृपया उक्त डीजे संचालक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का कष्ट करें।