नशे की लत से गई नाबालिग की जान, दम घुटने से हुई माैत

थाना प्रभारी मोरध्वज देशमुख ने बताया नाबालिग कक्षा आठवीं का छात्र था, जिसके चेहरे पर पॉलिथीन मास्क चिपका हुआ था। आशंका है कि जिसकी वजह से सांस नहीं ले पाया होगा और दम घुटने से उसकी मौत हो गई होगी।

 

कांकेर। जिले में पखांजूर क्षेत्र में संदिग्ध अवस्था में एक नाबालिग बच्चे का शव स्कूल भवन के पीछे मिला। मृत बच्चे के पास से बोनफिक्स का पैकेट मिला है। बच्चे के चेहरे पर पॉलिथीन मास्क की तरह लगा हुआ था। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि नशे की लत के चलते बच्चे की जान चली गई। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

पखांजूर क्षेत्र में 13 वर्षीय एक नाबालिग शनिवार सुबह लगभग 6 बजे अपने घर से निकला था। सुबह लगभग दस बजे स्कूल भवन में रंग-रोगन का काम करने वाले मजदूर जब स्कूल भवन के पीछे किसी काम से गए तब उन्होंने वहां पहुंचे इस हालत में देखा।

मजदूरों ने जब बच्चे को हिलाकर देखा तो कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं हुई तब इसकी सूचना तत्काल पखांजूर पुलिस थाने में दी गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और बच्चे को अस्पताल पहुंचाया।

थाना प्रभारी मोरध्वज देशमुख ने बताया नाबालिग कक्षा आठवीं का छात्र था, जिसके चेहरे पर पॉलिथीन मास्क चिपका हुआ था। आशंका है कि जिसकी वजह से सांस नहीं ले पाया होगा और दम घुटने से उसकी मौत हो गई होगी। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है।

देखा गया है कि बड़ी संख्या में युवा व नाबालिग नशे के लिए बोनफिक्स आदि का उपयोग करते हैं। इसका लत लगने के बाद उनके लिए काफी नुकसानदायक साबित होता है। पुलिस ने बताया कि नशे के ऐसे मामले की शिकायत मिलने के बाद नशे के लिए बच्चों को ऐसी चीजें उपलब्ध कराने वालों पर कार्रवाई करते हैं।

(TNS)