दिल्ली तक जाएंगेः कांग्रेसी मंच पर धक्का-मुक्की मामले में अग्रवाल समाज एकजुट, महासभा में बनाई रणनीति

अग्रवाल महासभा के नवनियुक्त अध्यक्ष मुरारी लाल अग्रवाल ने बताया कि पवन अग्रवाल के साथ हुई घटना को अग्रवाल समाज के अपमान से जोड़कर देखा जा रहा है। इसलिए इस घटना को लेकर मंगलवार को निंदा प्रस्ताव पारित किया गया।

जशपुर। कुछ दिनों पहले जशपुर(Jashpur) में कांग्रेस सम्मेलन (Congress Conference) में धक्का-मुक्की की घटना हुई थी। इसके बाद जिले के पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल के समर्थन(Support) में अग्रवाल समाज (Agrawal Samaj) खड़ा हो गया है। आगे ऐसी घटना न हो इसके लिए अग्रवाल महासभा तेजी से एकजुट(Unite) हो रहा है। मामला दिल्ली(Delhi) तक पहुंचाया जाएगा।

कुनकुरी में अग्रवाल समाज की बैठ
ज्ञात रहे कि कांग्रेस सम्मेलन की घटना के बाद विरोध में पत्थलगांव(Pathalgaon) में कांग्रेसी नेता इफ्तिखार हसन का पुतला फूंका गया था। वहीं दूसरी ओर सोमबार को कुनकुरी(Kunkuri) में भी अग्रवाल महासभा का गठन किया गया। महासभा के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसीसी सदस्य मुरारी लाल अग्रवाल को दी गयी। बताया जा रहा है अध्यक्ष पद के लिए तीन नाम सामने आए थे, पर मुलाली लाल को चुना गया।

घटना के विरोध की तैयारी
महासभा के सदस्यों के अनुसार कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान घटना हुई थी। अग्रवाल महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष व कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष पवन को कांग्रेसी नेता इफ्तिखार हसन द्वारा मंच से धक्का दिया गया था। माईक छीनी गई थी। उसके बाद अग्रवाल महासभा तेजी से एकजुट हो रहा है। बड़े पैमाने पर उक्त घटना के विरोध की तैयारी चल रही है।

अग्रवाल महासभा के मुरारी लाल बनाए अध्यक्ष
अग्रवाल महासभा के नवनियुक्त अध्यक्ष मुरारी लाल अग्रवाल ने बताया कि पवन अग्रवाल के साथ हुई घटना को अग्रवाल समाज के अपमान से जोड़कर देखा जा रहा है। इसलिए इस घटना को लेकर मंगलवार को निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। इस मामले को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम को ज्ञापन सौंपा जाएगा। ज्ञापन में कांग्रेस नेता इफ़्तिख़ार हसन के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की जाएगी।

कांग्रेस के छत्तीसगढ़ सहप्रभारी के सामने हुई घटना
आपको बता दें कि रविवार को कांग्रेस पार्टी के छग सहप्रभारी सप्तगिरी की मौजूदगी में जशपुर में कार्यकर्ता सम्मेलन चल रहा था। इसी दौरान पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल के साथ मंच पर कांग्रेस नेता इफ़्तिख़ार हसन पवन की माईक छीन ली।धक्का देकर मंच से बाहर निकालने लगे। इसके बाद मंच पर हंगामा खड़ा हो गया। इस दौरान विधायक भी मौजूद थे। तमाशा तो खत्म हो गया, लेकिन कांग्रेस के भीतर और प्रदेश की सियासत में उठापटक शुरू हो गई है।

(TNS)