नगरीय निकाय चुनाव : इस बार इन नेताओं पर रहेगी खास नजर

भिलाई नगर निगम में पिछले चुनाव में कांग्रेस ने महापौर पद पर कब्जा जमाया था। कांग्रेस के 22 पार्षद चुनाव जीतकर आये थे। भाजपा ने 35 वार्डों में कब्जा किया था। वहीं 13 निर्दलीय भी चुनाव जीतने में कामयाब हुए थे।

 

रायपुर (Raipur)। नगरीय निकाय चुनाव (Municipal elections) में नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 3 दिसंबर केवल एक दिन शेष है। उससे पहले ही सभी दलों ने अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। भिलाई (Bhilai) नगर निगम के लिए देर रात जारी हुई सूची में कांग्रेस ने 70 उम्मीदवारों का एलान कर दिया है, पर भाजपा में कुछ वार्डों पर मंत्रणा जारी है। कांग्रेस की इस बार जारी सूची में ऐसे लोगों को भी टिकट दिया गया है जिन पर पार्टी के साथ जनता की भी खास नजर है। यहीं से कई वरिष्ठ नेताओं का राजनीतिक भविष्य भी तय होगा।

70 पार्षदों वाले वार्ड नगर निगम में पिछले बार कांग्रेस ने कब्जा किया था। वर्तमान में यहां से महापौर देवेन्द यादव थे, जिन्हें पिछले विधानसभा चुनाव में टिकट दिया गया था और उन्होंने भाजपा के प्रेम प्रकाश पांडेय को हराया था।

बता दें प्रदेश के 10 जिलों के 15 नगरीय निकाय में चुनाव का एलान किया गया था। निकायों 20 दिसंबर को मतदान किया जाएगा और 23 दिसंबर को नतीजे घोषित किए जायेंगे।

पिछले चुनाव में यहां कांग्रेस का कब्जा था
भिलाई नगर निगम में पिछले चुनाव में कांग्रेस ने महापौर पद पर कब्जा जमाया था। कांग्रेस के 22 पार्षद चुनाव जीतकर आये थे। भाजपा ने 35 वार्डों में कब्जा किया था। वहीं 13 निर्दलीय भी चुनाव जीतने में कामयाब हुए थे। बता दें कि इस बार भिलाई नगर निगम में महापौर की सीट अनारक्षित (सामान्य) है।

जातिगत समीकरण का विशेष ध्यान रखा
70 वार्डों के प्रत्याशी तय करने से पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने जातिगत समीकरण को विशेष ध्यान में रखा है। यहां रहने वाले साहू समाज, वर्मा, कुर्मी, चंद्राकर, सिन्हा, यादव, दक्षिण भारतीय, उत्तर भारतीय, सिक्ख समाज, मुस्लिम समाज के लोगों को शहर सरकार में प्रतिनिधित्व करने का मौका देने का निर्णय लिया है। उसी अनुसार प्रत्याशियों का चयन किया गया है।

कांग्रेस के प्रत्याशियों में इनका स्थान अलग
वरिष्ठ कार्यकर्ता राजेंद्र अरोरा को भी टिकिट दी गई है। माडल टाउन से अरूण सिसोदिया, लक्ष्मीपति राजू, साधिका नगर से आदित्य सिंह, शांतिनगर से अभिषेक मिश्रा, पार्षद नीरज पाल, सीजू एंथोनी समेत कई दिग्गजों पर पार्टी ने विश्वास जताया है। वहीं नए चेहरे भी आश्चर्य में डालने वाला है।

इन नामों पर सबकी नजर
वार्ड-3 मॉडल टाउन से अरूण सिंह सिसोदिया को टिकट मिली है। कांग्रेस के प्रेदेश महासचिव हैं राजनांदगांव के प्रभारी हैं। एनएसयूआई के जिलाध्याक्ष आदित्य सिंह को टिकट मिली है। राधिकानगर से चुनाव लड़ेंगे। वार्ड-14 से एनएसयूआई के प्रदेश सचिव अभिषेक मिश्रा को टिकट मिली है। अभिषेक शांतिनगर में पिछले तीन साल से पसीना बहा रहे हैं।

वार्ड 21 कैलाश नगर कुरूद से नेहा साहू को मैदान में उतारा है। वार्ड 20 वैशालीनगर से सुषमा उपाध्याय को टिकट मिली है। बता दें कि सुषमा विनोद उपाध्याय की धर्मपत्नी हैं।
पूर्व सभापति राजेंद्र सिंह अरोरा को वार्ड-19 से टिकट मिली है। अरोरा लगातार कैंप क्षेत्र में सक्रिय रहे हैं।

वार्ड-30 से पार्षद जी. राजू की पत्नी को स्वामी जी राजू को टिकट मिली है। वार्ड-37 संत रविदास नगर से अब्दुल मन्नान को टिकट मिली है। मन्ना दिवंगत पूर्व पार्षद गफ्फार के पुत्र हैं। वार्ड-40 छावनी से तुलसी पटेल को टिकट मिली है। तुलसी लगातार तीसरी बार चुनाव मैदान में होंगी।

वार्ड-43 वापू नगर खुर्सीपार से भाजपा से कांग्रेस में आने वाले मार्तंड सिंह मनहर को कांग्रेस ने टिकिट दी है। एनएसयूआई के जिला पदाधिकारी शुभम झा को वार्ड-48 से टिकट मिली है। सेक्टर-5 के दिग्गज पार्षद नीरज पाल चौथी बार चुनावी मैदान में होंगे।
सेक्टर-10 की पार्षद सुभद्रा सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है।

बता दें कि सीनियर पार्षद सुभद्रा सिंह लगातार चुनाव जीतकर सदन में पहुंच रही हैं। इस बार मेयर को लेकर उनके नामों की चर्चा है। सेक्टर-7 के पार्षद लक्ष्मीपति राजू को चुनावी मैदान में पार्टी ने उतारा है। लक्ष्मीपति लागातार चुुनाव जीतकर सदन पहुच रहे हैं। बड़े विभागं का एमआईसी संभाल चुके हैं।

वार्ड-70 हुडको से सीजू एंथोनी को कांग्रेस ने प्रत्याशी बनाया है। सीजू इससे पहले दो बार के पार्षद रह चुके है। इस बार इन भी खास पद के लिए उनके नाम की भी चर्चा है।

(TNS)