रायपुर में दो पहिया वाहन चलाते हुए मोबाइल लूटने वाले दो आरोपी गिरफ्तार, दो दर्जन फोन बरामद

रायपुर। रायपुर शहर में स्कूटी में घूम-घूम कर मोबाइल फोन छीनने वाले दो आरोपितों को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उनके कब्जे से कुल 23 मोबाइल फोन बरामद किए हैं, जो राहगीरों से छीने गए थे। आरोपियों की पहचान प्रिंस बागड़े उर्फ पप्पी और शंकर सिंह ठाकुर उर्फ पन्ना के रूप में की गई है। दोनों ही गुढ़ियारी रायपुर के रहने वाले हैं और पूर्व में मारपीट एवं प्रतिबंधात्मक धाराओं के तहत जेल में बंद रह चुके हैं।

पुलिस ने बताया कि शौक पूरा करने के लिए मोबाइल फोन लूट की घटनाओं को आरोपी अंजाम देते थे और उन्हें जमा कर पश्चिम बंगाल के एक शख्स को बेच देते थे। रायपुर में कैटरिंग का काम करने वाला वह शख्स चोरी के मोबाइल को पश्चिम बंगाल में बेच देता था। फिलहाल, वह शख्स अभी पुलिस की गिरफ्तर से बाहर है, जिसकी तलाश में पुलिस लगी हुई है।

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से लूट की अलग-अलग घटनाओं में छीने गए 23 मोबाइल और घटना में प्रयुक्त बिना नंबर एक्टिवा जब्त की है। जब्त किए गए सामान की कुल कीमत लगभग चार लाख तिहत्तर हजार रुपये है। सायबर सेल एवं थाना मौदहापारा पुलिस की संयुक्ट टीम ने कार्यवाही करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के पास लगातार मोबाइल लूट के मामले की शिकायत आ रही थी।

इस पर टीम के सदस्यों ने आरोपियों के घटना को अंजाम देने के बाद फरार होने वाले मार्गों में लगे कई सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों को देखा और आरोपियों के हुलिए से संबंधित कुछ फुटेज हासिल किए। इसके बाद टीम के सदस्यों ने मुखबीरों को फुटेज दिखाकर अज्ञात आरोपियों की पहचान करने के लिए काम पर लगा दिया था।

इसी दौरान सूचना मिली की घटना में संलिप्त एक आरोपी रामनगर गुढ़ियारी रायपुर निवासी प्रिंस बागड़े उर्फ पप्पी है। टीम के सदस्यों द्वारा प्रिंस बागड़े को पकड़कर घटनाओं के संबंध में कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने जुर्म कुबूल कर लिया।

उसने बताया कि वह अपने साथी शंकर सिंह ठाकुर उर्फ पन्ना के साथ मिलकर रायपुर की शराब दुकान के आसपास, भीड़-भाड़ वाले स्थान सहित बाहरी इलाकों में दोपहिया वाहनों में घूमते हुए मोबाइल लूट करते थे।

इन मोबाइल को जमा करके वे पश्चिम बंगाल के एक शख्स को बेच देते थे, जो रायपुर में कैटरिंग का काम करता था। इस बार भी वे 23 फोन लूटने के बाद उक्त व्यक्ति के पास बेचने की फिराक में थे, लेकिन इससे पहले कि वे अपने मंसूबे में कामयाब हो पाते, पुलिस ने उन्हें धर दबोचा।