यूपी चुनाव की तपिश से छत्तीसगढ़ में भाजपा और कांग्रेस के बीच शुरू हुआ ट्विटर वॉर

रायपुर। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, लेकिन उसकी वजह से पारा छत्तीसगढ़ की सियासत का चढ़ गया है। भाजपा और कांग्रेस का ट्विटर पर युद्ध छिड़ गया है। दरअसल, उप्र के दौरे पर गए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दो ट्वीट कर इस ट्विटर वॉर का आगाज कर दिया है। एक ट्वीट में उन्होंने इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, प्रियंका वाड्रा गांधी और राहुल गांधी की संतों के आसान के नीचे बैठी तस्वीर के साथ पीएम मोदी की सीएम योगी के कंधे पर हाथ रखने वाली तस्वीर पोस्ट की है।

इसके साथ में बघेल ने लिखा है, साधु-संतों के तो चरणों में बैठकर आशीर्वाद लिया जाता है। लेकिन एक तस्वीर देखकर उत्तर प्रदेश के लोगों में बहुत संदेह पैदा हुआ है। एक ‘योगी” के कंधे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने हाथ रखा हुआ है। क्या प्रधानमंत्री जी आदित्यनाथ को योगी नहीं मानते? अगर ये योगी नहीं तो कौन हैं?

इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दूसरा ट्वीट करते हुए लिखा- आज नेहरू युवा केंद्र, लखनऊ में उत्तर प्रदेश के विभिन्न व्यापारी वर्गों के प्रतिनिधियों के साथ सार्थक संवाद हुआ। अधिकतर लोगों ने कहा कि पहले हमने भाजपा को उम्मीद के साथ वोट दिया था लेकिन अब वे यह गलती नहीं दोहराएंगे। भाजपा लगातार छोटे, मध्यम व्यापारियों को खत्म कर रही है। बस फिर क्या था, ट्विटर पर भाजपा ने भी भूपेश बघेल के इस जुबानी खर्च का हिसाब देना शुरू कर दिया।

सीएम के साधु-संत की फोटो के साथ ट्वीट के जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लिखा- जिनकी पार्टी में ‘एक परिवार’ के ही पैरों में झुकने के संस्कार हों, उन्हें कंधे पर हाथ रखना कैसे अच्छा लग सकता है। यह भाजपा के संस्कार हैं, जो झुकाने में नहीं, गले लगाने और कंधे से कंधा मिलाकर साथ आगे बढ़ाने में विश्वास रखते हैं। गुलाम मानसिकता वालों को यह बात समझ नहीं आएगी। जिस मुख्यमंत्री के पास किसानों का धान खरीदने के लिए बारदाने की व्यवस्था नहीं है। पीएम आवास के तहत बनने वाले गरीबों के घर के लिए देने को राशि नहीं है। बिना कर्ज लिए जिसकी एक योजना नहीं चलती, वो उत्तर प्रदेश में ‘छत्तीसगढ़ के तथाकथित विकास माडल’ के गीत गा रहा है।

प्रियंका गांधी के ओएसडी हैं भूपेश बघेल-सरोज पांडेय  

इस वाक युद्ध में भाजपा की राज्यसभा सदस्य सरोज पांडेय ने भी ट्वीट की आहूति डाल दी। उन्होंने लिखा बघेल को प्रियंका वाड्रा गांधी का ओएसडी करार दे दिया। राज्यसभा सदस्य सरोज पांडेय ने बघेल को रिट्वीट करते हुए लिखा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी पर जिम्मेदारियां बहुत हैं, जिसकी वजह से वह अपना मूल कार्य नहीं कर पा रहे हैं। उन्हें सीएम की कुर्सी किसी अन्य को देकर पूरी तरह प्रियंका जी के ओएसडी के रूप में उत्तर प्रदेश ही कैंप करना चाहिए। उनकी व्यस्तता राज्य के विकास में बाधा है।

सरोज के इस ट्वीट पर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि सीएम व तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के नेतृत्व में ही छत्तीसगढ़ रमन सरकार और भाजपा के कुशासन, भ्रष्टाचार व कमीशनखोरी से मुक्त हुआ। अब कांग्रेस नेतृत्व ने उप्र को योगी के कुशासन, गुंडाराज से मुक्त कराने की भी जिम्मेदारी सौंपी है। भाजपा के नेता ठलहा बैठे हैं। ट्वीटर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं।

(TNS)