गुड़ाखू फैक्ट्री के दमघोंटू टैंक में गिरे तीन कर्मी, तीनों की मौत

बताया जा रहा है कि टैंक की सफाई करते समय हुआ यह हादसा

रायपुर। रायपुर स्थित श्री शर्मा गुड़ाखू इंडस्ट्रीज में शुक्रवार को एक दर्दनांक हादसे में तीन कर्मियों की मौत हो गई। नशे के तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले गुड़ाखू फैक्ट्री में यह हादसा तब हुआ, जब श्रमिक फैक्ट्री के केमिकल युक्त दमघोंटू टैंक की सफाई कर रहे थे। इसी टैंक में गुड़ाखू बनाने के लिए सामग्री को सड़ाया जाता है।

राजधानी रायपुर के कोतवाली क्षेत्र में श्री शर्मा गुड़ाखू इंडस्ट्रीज है। सदर बाजार के गिरधर भवन के सामने स्थित इस फैक्ट्री में सूरज छाप गुड़ाखू का निर्माण किया जाता है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार की शाम तीन कर्मी गुड़ाखू मिश्रण टैंक की सफाई कर रहे थ्ो। बताते हैं कि सड़ांध मारते इस टैंक में उतरने के बाद संभवत: कर्मियों का दम घुट गया और उनकी मौत हो गई। हादसे के बाद फैक्ट्री संचालक ने चुप्पी साध ली। जिन कर्मियों की जान गई। उनमें दुर्ग जिले कि नेहरू नगर निवासी पुस्र्षोत्तम साहू, आमापारा दुर्ग का ही रहने वाला संतोष ध्रुव एवं खमतराई के शहीद नगर निवासी नेतराम साहू शामिल है।

कोतवाली थाना प्रभारी मोहसिन खान के अनुसार फैक्ट्री के मजदूर टैंक के पास काम कर रहे थे। उनकी मौत हो गई है। मौत की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है। फैक्ट्री का मालिक भी इस हादसे के संबंध में अभी कुछ बता नहीं पाया है।

बता दें कि प्रदेश में गुड़ाखू का बड़ा कारोबार है। प्रदेश में तमाम जगह गुड़ाखू का निर्माण किया जाता है। इस टैक्स फ्री कारोबार का बिजनेस करोड़ों में है। चूंकि इस बिजनेस पर कोई टैक्स नहीं लगता, इसलिए गुड़ाखू फैक्ट्री पर भी किसी का ध्यान नहीं जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार सेहत के लिए खतरनाक है सड़ाकर बनाया गया गुड़ाखू।
(TNS)