छत्तीसगढ़ के दो पड़ोसी राज्यों में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा

आईसीएमआर ने जारी की चेतावनी, आने वाले दो महीने बेहद संवेदनशील

रायपुर। दो साल से जीवन में उथल-पुथल मचा रहे कोरोना को लेकर आईसीएमआर यानी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने नई चेतावनी जारी की है। यह चेतावनी देश के नौ राज्यों में कोरोना की तीसरी लहर को लेकर है। राहत की बात ये है कि जिन नौ राज्यों में कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी दी गई है, उनमें छत्तीसगढ़ शामिल नहीं है। लेकिन जिन राज्यों को सावधान किया गया है, उनमें छत्तीसगढ़ के दो पड़ोसी राज्य शामिल हैं। ऐसे में हमें भी सावधान रहने की जरूरत है।

आईसीएमआर के अनुसार आने वाले दो महीने बेहत संवेदनशील हैं। ऐसे में अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है। अगर लोगों ने सावधानी नहीं बरती तो ये राज्य कोरोना की तीसरी लहर की चपेट में आ सकते हैं। आने वाले महीनों में त्योहार ज्यादा हैं। ऐसे में भीड़ का आयोजनों और बाजार में जुटना आम है। स्कूल-कॉलेज भी खुल चुके हैं। ऐसे में लोगों का एक-दूसरे से संपर्क निश्चिततौर पर बढ़ेगा। यही कारण है कि कोरोना का खतरा भी बढ़ जाएगा। आईसीएमआर ने जिन राज्यों के लिए चेतावनी जारी की है, उनमें छत्तीसगढ़ के पड़ोसी मध्य प्रदेश व झारखंड भी शामिल हैं। इन दोनों ही राज्यों से रोजाना लोगों का बढ़ी संख्या में लोगों का आना जाना होता है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के लोगों को भी सतर्क रहने की जरूरत है। बता दें कि तीसरी लहर को लेकर आशंका जताई जा रही है कि यह बच्चों पर ज्यादा असर डालेगी। जहां एक ओर तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है, वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी है। वैक्सीन की कमी के कारण दो-तीन दिन से टीकाकरण केन्द्र बंद पड़े हैं।

इन राज्यों को किया सावधान
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने जिन राज्यों के लिए चेतावनी जारी की है उनमें मध्य प्रदेश, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, गोवा, हरियाणा, मिजोरम, गुजरात, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु शामिल हैं।
(TNS)