शिक्षा की राह हुई आसानः नहीं चलना पड़ेगा छात्रा को स्कूल तक सात किमी पैदल, SP ने खरीदी साइकिल

पुलिस अधीक्षक पटेल ने इस पर संज्ञान लेते हुए तत्काल एक साइकिल खरीदी। उसके बाद कटघोरा थाना स्टॉफ के सहायक उप निरीक्षक मंगतूराम मरकाम, आरक्षक शिव शंकर परिहार और महिला आरक्षक सुहाना केंवट के हाथों साइकिल को सिंधिया स्कूल भिजवाया। जहां पुलिस स्टॉफ ने छात्रा जयंती एक्का को नई साइकिल प्रदान की।

कोरबा (Korba)। किसी की तकलीफ को देखकर, किसी की आवश्यकता को भांपते हुए अगर आप सक्षम हैं तो अवश्य ही आपको उसकी मदद जरूर करनी चाहिए। इससे आपका किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा, वरन सामने वाला आपको दुआ देगा। ईश्वर से आपके सुखी जीवन की कामना करेगा। वहीं स्वयं को भी लगेगा कि मेरा जीवन चलो किसी के काम तो आया।

ऐसा ही संदेश देना चाहते हैं कोरबा जिले (Korba District) के पुलिस कप्तान (police captain,) जिन्होंने एक बच्ची को प्रोत्साहित (encouragement) करने के लिए अच्छी पहल करते हुए शिक्षा के प्रति उत्साह पैदा किया है। जीं हां जिले के पुलिस अधीक्षक (Police Officer) भोजराम पटेल की संवेदनशीलता एक बार फिर सामने आई है।

एसपी पटेल को सोशल मीडिया से जैसे ही पता चला कि एक बच्ची को पढ़ाई के प्रति ऐसी लगन है कि वह इसके लिए सात किलोमीटर पैदल (foot) चलती है। उसके बाद एसपी ने बच्ची के लिए तत्काल पहल की।

ग्राम पंचायत तुमान में रहती है बच्ची
जानकारी अनुसार पोड़ी-उपरोड़ा (Podi-Uparoda) विकासखंड के ग्राम पंचायत तुमान (Tuman) का आश्रित मोहल्ला मैनगढ़ी की रहने वाली कक्षा 8वीं की छात्रा (student) जयंती एक्का, पिता फत्तेराम एक्का में पढ़ाई के प्रति इतना लगन है कि स्कूल तक पहुंचने के लिए वह ग्राम तुमान से बस पकड़ने के लिए गांव से 7 किलोमीटर पैदल चलती है। इसका करण ये है कि उसके पास बस तक आने के लिए साइकिल (Bicycle) नहीं है।

साइकिल खरीद कर छात्रा को सौंपी
पुलिस अधीक्षक पटेल ने इस पर संज्ञान लेते हुए तत्काल एक साइकिल (Bicycle) खरीदी। उसके बाद कटघोरा थाना स्टॉफ के सहायक उप निरीक्षक मंगतूराम मरकाम, आरक्षक शिव शंकर परिहार और महिला आरक्षक सुहाना केंवट के हाथों साइकिल को सिंधिया स्कूल भिजवाया। जहां पुलिस स्टॉफ ने छात्रा जयंती एक्का को नई साइकिल प्रदान की। इस दौरान साइकिल देखकर जयंती भावविभोर हो गई। जयंती ने पुलिस अधीक्षक के संवेदनशीलता के प्रति कृतज्ञता जताई।

सामुदायिक पुलिसिंग पर विशेष ध्यान
बता दें कि पुलिस अधीक्षक पटेल जिले में आपराधिक गतिविधियों पर रोक लगाने के साथ-साथ विजिबल व सामुदायिक पुलिसिंग पर विशेष फोकस कर रहे हैं। यही वजह है कि जिले में जनता और पुलिस के बीच की दूरी लगातार कम होते जा रही है। और गैर कानूनी कार्य में संलग्न लोग डरे सहमे हुए हैं।

(TNS)