बच्चों के साहस ने किशोरी को बचाया, गैंगरेप कर रहे बदमाशों को पत्थर बरसा कर भगाया

उसकी चीख-पुकार सुनकर पास में खेल रहे 10-12 बच्चे वहां पहुंच गए और पत्थर मार-मार कर पीड़िता को आरोपियों के चंगुल से छुड़ाया। इसके बाद पीड़िता को उसके ननिहाल वालों के पास पहुंचाया गया।

सोनभद्र। बच्चों की साहस और हिम्मत की वजह से आज एक बच्ची की जान जाते-जाते बच गई। कुछ युवक एक बच्ची को बाजार से अगुवा कर दुष्कर्म कर रहे थे, कि पास खेल रहे बच्चों ने बदमाशों पर पत्थर उठाकर मारना शुरू कर दिए, तो वे बच्ची को छोड़कर भाग गए। पुलिस ने चार आरोपी को गिरफ्तार किया है।

मामला ओबरा थाना क्षेत्र (Obra police station area) के एक गांव में लगे साप्ताहिक बाजार का है। जहां खरीदारी के लिए गई एक किशोरी (Yuvati Ke Sath Dushkarm) को समुदाय विशेष के युवकों ने सरेआम अगवा कर लिया। किशोरी को कुछ दूर ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म करने लगे। इसी दौरान पास में खेल रहे 10-12 बच्चों ने बच्ची के चिल्लाने की आवाज सुनी तो वे बदमाशों से बच्ची को छुड़ाने की ठानी। उन्होंने पत्थर उठाकर बदमाशों को मारने लगे, तो बदमाश बच्ची को छोड़ दिए। बच्चों की कोशिश से पीड़िता बच गई।

हिंदूवादी संगठनों ने जताई नाराजगी
मामले की खबर मिलते ही जहां पुलिस सक्रिय हो हुई और चार बदमाशों को गिरफ्तार किया गया। वहीं हिंदूवादी संगठनों को जानकारी मिली तो वे थाने पहुंचकर कड़ा विरोध किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए सोमवार की दोपहर दबिश देकर पुलिस (Sonbhadra police) ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

परिजनों को कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाया
जानकारी मिलते ही एएसपी विनोद कुमार के साथ एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह मौके पर पहुंच गए और पीड़ित के परिजनों से मिलकर आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाया। पीड़िता को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।

खरीदारी के लिए साप्ताहिक बाजार आई थी
बताया गया कि ओबरा थाना क्षेत्र की रहने वाली किशोरी कनहरा क्षेत्र स्थित अपने ननिहाल आई हुई थी। रविवार को लगे साप्ताहिक बाजार में शाम को अपनी मौसी के साथ सामान खरीदने के लिए गई हुई थी। बताते हैं कि उस दौरान लघुशंका के लिए वह जैसे ही साइड में गई, वहां मौजूद विशेष समुदाय के चार युवकों ने उसे उठा लिया और कुछ दूरी पर ले जाकर उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म करने लगे।

चीख-पुकार सुनकर बच्चे इकट्ठा हो गए
उसकी चीख-पुकार सुनकर पास में खेल रहे 10-12 बच्चे वहां पहुंच गए और पत्थर मार-मार कर पीड़िता को आरोपियों के चंगुल से छुड़ाया। इसके बाद पीड़िता को उसके ननिहाल वालों के पास पहुंचाया गया। परिवार वाले भी घटना की जानकारी पाकर भागते हुए पहुंचे। पीड़िता को अस्पताल ले जाने के साथ ही सोमवार की सुबह पुलिस को सूचना दी गई।

घटना के बाद पुलिस महकमें मचा हड़कंप
घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। ओबरा पुलिस के साथ ही एएसपी और सीओ कनहरा पहुंच गए। दोपहर बाद एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने भी मौके का मुआयना किया। बताया कि मामले में एफआईआर दर्ज कर आरोपी जलील मुहम्मद, शफाकत, ताजुद्दीन, आबिद निवासी कनहरा को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

(TNS)