हर एक की आंखों से छलक पड़े आंसूः वायुसेना के विशेष विमान से पहुंचा शहीद कर्नल विप्लव का पार्थिव शरीर

मणिपुर में उग्रवादी हमले में शहीद हुए छत्तीसगढ़ के लाल रायगढ़ निवासी कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी का पार्थिव शरीर सोमवार को वायुसेना के विशेष विमान से रायगढ़ पहुंचा। विप्लव के साथ उनकी पत्नी अनुजा त्रिपाठी और छह साल के बेटे अबीर त्रिपाठी का शव भी लाया गया।

रायपुर (Raipur)। देश की सुरक्षा (country’s security) में अपने प्राणों की बलि (sacrifice of life) देने वाले लाल का परिवार सहित पार्थिव शरीर (mortal remains) पहुंचने की सूचना पर ही सब का दिल पसीज गया। लोग सारे काम छोड़कर अंतिम दर्शन को उड़ पड़े। पूरा एयरपोर्ट कर्नल विप्लव अमर रहे, भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा। पूरा क्षेत्र लोगों की भीड़ से खचाखच भरा रहा।

बता दें मणिपुर (Manipur) में उग्रवादी हमले (militant attack) में शहीद हुए छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के लाल रायगढ़ (Raigarh) निवासी कमांडिंग ऑफिसर (commanding officer) कर्नल विप्लव त्रिपाठी (Colonel Viplav Tripathi) का पार्थिव शरीर सोमवार को वायुसेना (Air Force) के विशेष विमान से रायगढ़ पहुंचा। विप्लव के साथ उनकी पत्नी अनुजा त्रिपाठी और छह साल के बेटे अबीर त्रिपाठी का शव भी लाया गया। विप्लव के अंतिम दर्शन के लिए एयरपोर्ट में जनसैलाब उमड़ पड़ा।

सांसद-मंत्री-विधायकों के साथ पुलिस अधिकारियों ने दी पुष्पांजलि
पार्थिक शरीर एयरपोर्ट पहुंचने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से उच्च शिक्षा मंत्री (Higher Education Minister) उमेश पटेल, रायगढ़ सांसद (Member of parliament) गोमती साय, रायगढ़ विधायक MLA प्रकाश नायक, विधायक चक्रधर सिदार, कलेक्टर भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा सहित हजारों ने लोगों ने श्रद्धांजलि दी। गार्ड ऑफ आनर के बाद रायगढ़ के रामलीला मैदान में शहरवासियों के अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव शरीर रखा गया है। शाम को रायगढ़ में ही अंतिम संस्कार किया जाएगा।

अंतिम विदाई में पूरा नगर रो पड़ा
विप्लव और उनके परिवार के अंतिम संस्कार के मद्देनजर सोमवार को पूरा रायगढ़ शहर बंद है। अंतिम विदाई में पूरा नगर रो पड़ा। व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को व्यापारियों ने स्वयं हीबंद कर दिया है। बता दें कि शनिवार को विप्लव अपने परिवार के साथ पोस्ट से लौट रहे थे। तभी उग्रवादियों ने उनकी गाड़ी पर हमला किया था। इसमें विप्लव शहीद हो गए थे, उनकी पत्नी और बेटे की भी जान चली गई थी। विप्लव रायगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के बड़े बेटे थे। विप्लव का भाई भी आर्मी में हैं।

(TNS)