सिबिल अपडेट कराने का झांसा देकर शिक्षक से ऑनलाइन ठगे 32 हजार रुपये

रायपुर। आनलाइन ठगी की वारदात पर अंकुश लगाने के लिए राजधानी पुलिस समय-समय पर जन जागरूकता अभियान चलाती रहती है, लेकिन फिर भी ठग अपने मंसूबों में कामयाब होकर लोगों को चूना लगाते रहते हैं। ताजा मामला सिबिल अपडेट करने का झांसा देकर शिक्षक के साथ ऑनलाइन ठगी कर 32 हजार रुपये निकालने का है। आनलाइन ठगों ने राजधानी के सुंदरनगर निवासी शिक्षक को शिकार बनाते हुए इस वारदात को अंजाम दिया।

ठगों ने सिबिल स्कोर अपडेट करने का झांसा देकर 32 हजार 414 रुपये की ठगी की है। शिक्षक की शिकायत पर डीडी नगर पुलिस अज्ञात आरोपित के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। सुंदरनगर निवासी गंगाधर राव पेशे से शिक्षक हैं। वह 31 अक्टूबर को पंडरिया से छुट्टी मनाने सुंदरनगर अपने घर आये थे। शिक्षक आरबीएल बैंक के क्रेडिट कार्ड को बंद कराने एवं सिबिल अपडेट करने के लिए बैंक के कस्टमर केयर नंबर पर पिछले तीन माह से संपर्क कर रहे थे।

इसी बीच एक नवंबर की सुबह उनके मोबाइल नंबर पर 9163766584 से फोन आया। फोन करने वाले आरोपित ने कहा कि मैं बैंक से बोल रहा हूं, आपका मैं सिबिल का स्टेटस अपडेट कर देता हूं। शिक्षक आरोपित के झांसे में आ गया और उसके द्वारा बताए क्विक सपोर्ट नाम के एप को डाउनलोड कर बजाज फिन्सर्व के अंदर मौजूद मोबीक्विक वालेट पर पांच रुपये का ट्रांजेक्शन एसबीआइ डेबिट कार्ड से किया।

उसके बाद उसके खाते से पहली बार में 20 हजार 258 तथा दूसरी बार 12 हजार 155 रुपये बिना ओटीपी की जानकारी दिए आनलाइन कट गए। बाद में जब उन्होंने पैसे निकलाने के लिए बैंक का स्टेटमेंट चेक किया, तो उन्हें अपने साथ हुई ठगी की घटना की जानकारी लगी। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर आरोपी की गिरफ्तारी की कोशिश कर रही है। पुलिस ने लोगों को एक बार फिर से आगाह किया है कि किसी भी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा दिए गए प्रलोभन में न फंसे और अपनी निजी व गोपनीय जानकारी बैंकिंग से संबंधित कोई काम मोबाइल पर दिए गए निर्देशों के आधार पर न करें।

(TNS)