छात्र-छात्राएं नौकरी के अलावा दूसरों को नौकरी देने के उद्यम पर भी विचार करें

पं. श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय धरसींवा में 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम का पांचवां दिन

धरसींवा (raipur)। छात्र-छात्राएं केवल नौकरी हासिल करने के लक्ष्य पर ही केन्द्रित न रहें। आप जिस विषय में पढ़ाई कर रहे हैं, उसी भाषा में पत्रकारिता का उद्यम शुरू करके दूसरों को भी नौकरी देने पर विचार करें। इससे न केवल रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, बल्कि आप पत्रकारिता के क्षेत्र में अलग तरह से अपना योगदान कर पाएंगे।

यह बातें आईबीसी 24 लखनऊ (नार्थ इंडिया) के पॉलिटिकल हेड विजयकांत दीक्षित ने कहीं। विजयकांत शासकीय पंडित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय धरसींवा (Pt. Shyamacharan Shukla Mahavidyalaya Dharsiwa) के हिंदी विभाग द्वारा ‘हिंदी पत्रकारिता अध्ययन” विषय पर आयोजित 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम के पांचवें दिन मुख्य वक्ता के रूप में छात्र-छात्राओं का मार्गदर्शन कर रहे थे। उन्होंने हिंदी पत्रकारिता के क्षेत्र में रोजगार की संभावनाओं पर उपयोगी जानकारी दी। विजयकांत ने बताया कि वेब न्यूज पोर्टल, टीवी पत्रकारिता, फोटो पत्रकारिता, रेडियो पत्रकारिता के क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओं को सलाह दी कि आप जिस विषय में अध्ययनरत हैं, उस विषय में पत्रकारिता का उद्यम शुरू करके दूसरों को भी नौकरी देने पर विचार करें।

कार्यक्रम संयोजक डॉ. सीएल साहू ने बताया कि 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम को बेहतर बनाने के लिए संस्था की प्राचार्य डॉ. श्रीमती विनोद शर्मा के अलावा विशेष मार्गदर्शन कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (Kushabhau Thackeray University of Journalism and Communication) के इलेक्ट्रानिक मीडिया एवं रेडियो संवाद के विभागाध्यक्ष व निदेशक डॉ. नरेन्द्र त्रिपाठी, युवा पत्रकार डॉ. राकेश पांडेय और मयंक चतुर्वेदी मानस (mayank chaturvedi manas) द्वारा सहयोग किया जा रहा है। पांचवें दिवस के कार्यक्रम का संचालन पाठ्यक्रम की सह संयोजक श्रीमती कल्पना पांडेय ने किया।
(TNS)