धरसींवा कॉलेज के विद्यार्थियों ने प्रेस पहुंचकर समझी प्रिंटिंग की तकनीक

शासकीय पण्डित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय धरसींवा में चल रहे 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम का आठवां दिन

प्रिंटिंग प्रेस में जानकरी लेते शासकीय पण्डित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय के विद्यार्थी।

धरसींवा (raipur)। शासकीय पण्डित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय (Government Pandit Shyamacharan Shukla College) में आयोजित 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम के तहत विद्यार्थियों ने बुधवार को प्रिंटिग प्रेस (printing press) का भ्रमण किया। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने प्रिंटिंग की तकनीक, इस्तेमाल होने वाले कागज, स्याही आदि के बारे में जानकारी ली। अखबार को छपते हुए देखना छात्र-छात्राओं के लिए एक रोमांचित कर देने वाला अनुभव रहा। इस दौरान छात्र-छात्राओं की जिज्ञासाओं को प्रेस प्रबंधन ने शांत किया।

प्रिंटिंग प्रेस में शासकीय पण्डित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय के विद्यार्थी।

धरसींवा कॉलेज के हिंदी विभाग द्वारा संचालित 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम के आठवें दिन विद्यार्थियों को दैनिक भास्कर की प्रिंटिंग प्रेस का भ्रमण कराया गया। प्रिंटिंग प्रेस पर अखबार को छपते हुए देखना छात्र-छात्राओं को लिए न केवल नया अनुभव था, बल्कि उनके लिए किसी कौतुहल से कम नहीं था। अलग-अलग मशीनों से छपकर आ रहे चादर की तरह दिखने वाले अखबार का एक साथ मिलना, फिर उनका तह होकर बाहर निकलना विद्यार्थियों के लिए किसी जादू सरीखा था। प्रिंटिंग प्रेस की कार्यप्रणाली को देखकर छात्रों के चेहरे पर भौचक होने के भाव दिखाई दिए।

प्रिंटिंग प्रेस में जानकरी लेते शासकीय पण्डित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय के विद्यार्थी।

इस दौरान संस्थान के जीएम दीपक शर्मा व मैकेनिकल इंचार्ज उत्तम ने मशीनों, उनकी कार्यविधि और छपाई आदि के बारे में विस्तार से बताया। छात्र-छात्राओं को यह भी बताया गया कि हर रोज अखबार की छपाई में कितना कागज, कितनी स्याही लग जाती है। छपाई के दौरान उपयोग होने वाले पानी का पीएच मान कैसे संतुलित रखा जाता है। विद्यार्थियों को बताया गया कि कैसे महज चार रंगों से अखबार में फोटो छपती है। भ्रमण कार्यक्रम में 11 दिवसीय मूल्यवर्धित पाठ्यक्रम के संयोजक व हिंदी के विभागाध्यक्ष डॉ. सीएल साहू तथा इतिहास विभाग के डॉ.शबनूर सिद्दीकी सहित कुल 32 प्रतिभागी शामिल रहे।
(TNS)