नहाते समय फिसला पैरः इंद्रावती नदी में बह गए दो शिक्षक, तेज बहाव के बीच एक हो गया लापता

बिना जानकारी के नर्सरी के पीछे इंद्रावती नदी में कर्मी नहाने उतर गए। इस दौरान शिक्षक धर्मेंद्र का पैर फिसल गया और वह पानी में डूबने लगा, जिसे बचाने के लिए दूसरा शिक्षक मोहनीश नदी में में कूद गया, लेकिन दोनों शिक्षक नदी के तेज बहाव में डूबने लगे।

दंतेवाड़ा (Dantewada)। इंद्रावती नदी (Indravati river)में बह जाने की इस महीने में तीसरी घटना (accident) सामने आई है। रविवार को हुई घटना में दो लोगों के बहने की जानकारी मिली है। जहां एक को बचा लेने की बात सामने आ रही है।

जानकारी मिली है कि दंतेवाड़ा के बारसूर मुचनार (Barsur Muchnar) नर्सरी (Nursery) में घूमने आए केंद्रीय विद्यालय (Central School) के दो शिक्षक (Teacher) इंद्रावती नदी के तेज बहाव में बहते हुए डूबने (drowned) लगे। इस दौरान प्रत्यक्षदर्शियों ने इनमें से एक शिक्षक को बचा लिया है, लेकिन दूसरा शिक्षक लापता हो गया है। जिसकी तलाश की जा रही है। शाम तक उसके मिलने की सूचना नहीं मिली है।

बिना जानकारी के नहाने उतर गए
जानकारी के अनुसार केंद्रीय विद्यालय के कर्मचारी रविवार को मुचनार नर्सरी में घूमने आए थे। बिना जानकारी के नर्सरी के पीछे इंद्रावती नदी में कर्मी नहाने उतर गए। इस दौरान शिक्षक धर्मेंद्र का पैर फिसल गया और वह पानी में डूबने लगा, जिसे बचाने के लिए दूसरा शिक्षक मोहनीश नदी में में कूद गया, लेकिन दोनों शिक्षक नदी के तेज बहाव में डूबने लगे।

बहता देखकर तीसरे शिक्षक ने लगा दी छलांग
इस दौरान दोनों शिक्षकों को नदी में डूबता देखकर एक और शिक्षक ने इस दौरान नदी में छलांग (jump) लगा दी। उन्होंने कूदकर उन्हें बचाने की कोशिश की, जिसमें एक शिक्षक धर्मेंद्र को उन्होंने बचा कर पानी से बाहर निकाल लिया, जबकि दूसरे शिक्षक मोहनीश लापता बताए जा रहे हैं, जिनकी तलाश जारी है।

रेस्क्यू टीम कर रही तलाश
पुलिस (police) के अनुसार रविवार दोपहर लगभग डेढ़ बजे घटित घटना की सूचना मिलने पर बारसुर थाना प्रभारी (Station Incharge) सुरेंद्र पामभोई टीम के साथ पहुंचे। इसके साथ रेस्क्यू टीम (rescue team) भी पहुंच गई। फिलहाल लापता शिक्षक की खोज की जा रही है। एसडीओपी SDOP आशा रानी ने बताया कि सभी केंद्रीय विद्यालय के स्टाफ हैं जो मुचनार नर्सरी में घूमने के लिए आए थे।

(TNS)