खुलासा: 7 लोगों ने मिलकर की थी 30 लाख की चोरी, 3 आरोपी गिरफ्तार, 4 की तलाश में टीम गई नेपाल बार्डर

इलाके की सर्चिंग में तैनात पुलिस की टीम को घटना स्थल से लगभग 2 किलोमीटर दूर पीछे की ओर एक खेत में एक लॉकर धान के कटे हुए बालिंयों के अन्दर छिपाकर रखा हुआ मिला। आरोपी लॉकर को तोडने में सफल नहीं हो पाए थे।

कोरबा (korba)। कुछ दिनों पहले एसीबी कंपनी के मालिक के घर हुई लाखों की चोरी (theft) का खुलासा (reveal) करने में पुलिस (police) को बड़ी सफलता मिली है। सात लोगों ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था। मामले में 3 आरोपियों (accused) को गिरफ्तार (arrested) कर लिया गया है। वहीं चार आरोपी अभी फरार है। पुलिस ने लॉकर के साथ चोरी का जेवरात और घटना में प्रयुक्त औजार बरामद (tools recovered) किया है।

पुलिस से मिली जानकारी अनुसार प्रार्थी के यहां भोजन बनाने का काम करने वाले ने पत्नी के साथ मिलकर साजिश रची थी। वहीं आरोपियों तक पहुंचने में शराब की बोतल से बड़ी सहायता मिली। मामले में मुख्य आरोपी घर के नौकर और उसकी पत्नी ने चोरी की घटना की साजिश रची थी। नेपाल के निवासी (residents of nepal) सभी आरोपी घटना के बाद नेपाल भागने के फिराक में थे।

जांच में लगी थी सात टीमें
पुलिस ने बताया दीपका थाना (Deepka Thana) क्षेत्र अंतर्गत बतारी स्थित एसीबी कंपनी के मालिक के घर चोरी हुई थी। चोरी किए गए लॉकर सहित लगभग 30 लाख का मशरूका बरामद किया गया है। बड़ी चोरी की घटना में 7 टीमें मामले की जांच रही थी। 2 टीम नेपाल बॉर्डर (Nepal Border) पर फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।

सर्चिंग टीम को ग्रामीणों ने क्लू दी
मामले के खुलासे के दौरान पुलिस ने बताया कि आरोपियों के पास से 3 सोने के हार, लॉकेट और चांदी का सिक्का सहित कुछ नगदी रकम बरामद हुआ है। स्थानीय ग्रामाीणें के साथ इलाके की सर्चिंग में तैनात पुलिस की टीम को घटना स्थल से लगभग 2 किलोमीटर दूर पीछे की ओर एक खेत में एक लॉकर (locker) धान के कटे हुए बालिंयों के अन्दर छिपाकर रखा हुआ मिला। आरोपी लॉकर को तोडने में सफल नहीं हो पाए थे। लॉकर के भीतर लगभग 30 लाख रुपए के सोने-चांदी का जेवरात (gold and silver jewelery) बरामद हुआ।

भोजन बनाने वाले की डोल गई नियत
पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि घटना का मुख्य सरगना भीम भुल है जो प्रार्थी के घर में खाना बनाने का काम करता था। उसी के द्वारा इस घटना को घटित करने का प्लान बनाया गया। आरोपियों को बुलाकर घर का नक्शा दिखाया गया। घर के बाहर लगे हुए CCTV कैमरे के वायर को प्लान के अनुसार 5 दिन पहले ही बंद कर दिया। घटना के 5 दिन पूर्व ही अपनी पत्नि के साथ छुट्टी लेकर नेपाल रवाना हो गया था, लेकिन नेपाल न जाकर अपनी पत्नि के साथ बिलासपुर में ही रूका था। अपने अन्य साथियों को बुलाने के बाद घटना को घटित किया।

ये हैं आरोपी
आरोपियों में प्रेम भुल उर्फ पिंचु, जो नेपाल निवासी है। हिमाल बहादुर मांझी, नेपाल के सिलगडी जिला का रहने वाला है। वहीं तीसरा आरोपी दीपक भुल उर्फ दीप भुल बडकुटा, वाईल चौकी निवासी है। इनमें से फरार आरोपियों में कुमार भुजैल. भीम सिंह, पदम सावंत और पूनम उर्फ छोटी का नाम शामिल है।

आरोपियों से बरामद सामान
पुलिस के अनुसार बरामद सामग्री में 1 लॉकर तिजोरी में सोने-चॉदी के जेवरात लगभग 25 लाख के, आरोपियों से सोने के 2 चैन, 1 लॉकेट, चांदी का एक बड़ा सिक्का, कान की 2 बाली, जिसकी कीमत 5 लाख रुपए है। वहीं 1700 रुपए नगद, घटना में प्रयुक्त 2 सब्बल, 3 पेचकस, 2 छेनी, 1 ग्लास कटर और 3 मोबाइल बरामद हुए हैं। चोरी में लगभग 30 लाख रुपए के सामान के साथ कैश बरामद किया गया है।
(TNS)