दिल्ली से लौटकर बोले सीएम- कंगना का बयान महान विभूतियों का अपमान

मुख्यमंत्री ने झीरम मामले में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह से भी किया सवाल

रायपुर। कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी से मिलकर दिल्ली से देर रात लौटे सीएम ने पत्रकारों से बातचीत में फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कंगना का बयान उन सभी महान विभूतियों का अपमान है, जिन्होंने आजादी की जंग लड़ी। अंग्रेजों की लाठियां खाईं। जो न केवल जेल गए, बल्कि गोलियां भी खाईं। कंगना को देश के लिए माफी मांगनी चाहिए।

सीएम ने झीरम मामले में न्यायिक जांच आयोग में नए अध्यक्ष की नियुक्ति और कार्यकाल बढ़ाने को लेकर पूर्व सीएम रमन सिंह के बयान का भी जवाब दिया। उन्होंने कहा कि डॉ. रमन कह रहे हैं कि ऐसा करके न्यायालय का अपमान किया गया है। लेकिन वे बताएं कि न्यायालय का अपमान कैसे हो गया। रिपोर्ट अधूरी होने के कारण उसे विधानसभा में नहीं रखा गया। जांच पूरी करने के लिए विधि विभाग की सलाह पर दो सदस्यों की टीम का गठन किया गया है। डॉ. रमन के समय ही 20 बार इसका कार्यकाल बढ़ाया गया है। जून में रिपोर्ट पूरी करने के लिए अंतिम मौका दिया गया था। जबकि सितंबर में बताया गया कि जांच पूरी नहीं हो पाई है। ऐसे में कार्यकाल बढ़ाना ही होगा। वैसे भी अधूरी रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता।

सोनिया गांधी से देश और प्रदेश की राजनीति पर चर्चा
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात अच्छी रही। कोरोना काल के बाद पहली बार हुई यह मुलाकात 40 मिनट चली। इस दौरान देश और प्रदेश की राजनीति को लेकर चर्चा हुई। सीएम ने बताया कि उनकी मुलाकात प्रियंका गांधी से भी हुई। उत्तर प्रदेश में पार्टी प्रियंका गांधी के नेतृत्व में लोगों में विश्वास पैदा कर रही है।
(TNS)