शादी की शूटिंग के लिए किराये पर लिए कैमरे और बेचकर हजम कर गया पूरा माल… जानें क्या है यह पूरा मामला

कोतवाली थाना दुर्ग का मामला, आरोपित युवक ने कई लोगों के कैमरे किराए में लेगर उन्हें बेच दिया, जांच में जुटी पुलिस।

सिटी कोतवाली दुर्ग

भिलाई। पचरीपारा दुर्ग में स्टूडियो चलाने वाले कुछ लोग गबन का शिकार हो गए। कुछ दिन पहले एक युवक, पीड़ितों की दुकान पर पहुंचा। उसने शादी समारोह की शूटिंग के नाम पर 10 दिनों के कैमरा किराये पर लिया और रायपुर में बेच दिया। इसमें से सिर्फ एक कैमरे की कीमत 11 लाख रुपये से अधिक है। लेकिन, आरोपी ने उसे महज 90 हजार रुपये में बेच दिया और पूरा माल हजम कर गया।

एक दुकानदार ने दुर्ग कोतवाली थाना पहुंचकर इसकी शिकायत की। जिसके आधार पर दुर्ग कोतवाली पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गबन की धारा के तहत एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने बताया कि बीते 12 मार्च को अमन यादव नाम का आरोपी पचरी पारा के आरके स्टूडियो के संचालक राकेश यादव के पास पहुंचा। आरोपी ने एक शादी की शूटिंग के नाम पर कैमरा किराये पर लिया। उसने कहा कि शादी समारोह लंबा चलेगा और उसे 10 दिन के लिए कैमरा किराये पर चाहिए।

इस पर राकेश यादव ने अपना एक कैमरा उसे किराये पर दे दिया। 10 दिन बीतने के बाद भी जब आरोपी ने न तो कैमरा लौटाया और न ही किराया दिया। इसके बाद उसने आरोपी से संपर्क किया। शुरुआत में आरोपी ने आज कल की बात कहकर घुमाना शुरू कर दिया। लेकिन, एक दिन उसे पकड़कर कैमरे के बारे में पूछने पर आरोपी ने बताया कि उसने कैमरे को रायपुर को रजा सेल्स दुकान में 90 हजार रुपये में बेच दिया है।

कई लोगों का कैमरा किराए में लेकर बेचा
अमन यादव ने अकेले राकेश यादव ही नहीं कई और का भी कैमरा किराए में लेकर उसे बेच दिया। आरोपित ने पचरी पारा दुर्ग के संतोष कुमार साहू, रवि लाल देवांगन और धमतरी के मेघराज यादव से कैमरा किराये पर लेकर बेच दिया था। इसके बाद वो दुर्ग कोतवाली थाना पहुंचा और पूरे मामले की शिकायत की। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 406 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली और मामले की जांच कर रही है।

पीडित की शिकायत पर एफआईआर
पीड़ित की रिपोर्ट पर आरोपी अमन यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। अभी मामले की जांच की जा रही है।
-भूषण एक्का, टीआई दुर्ग कोतवाली