बाल शोषण को लेकर छत्तीसगढ़ समेत देशभर में 77 ठिकानों पर सीबीआई की दबिश, 83 आरोपियों के खिलाफ 23 मामले दर्ज, 10 गिरफ्तार

सीबीआई ने कहा कि शुरुआती तौर पर पता चला है कि 50 से ज्यादा समूह से 100 देशों से 5000 से अधिक नागरिकों की संलिप्तता हो सकती है। सीबीआई अपनी सहयोगी एजेंसियों के साथ औपचारिक और अनौपचारिक माध्यमों से समन्वय कर रही है।

रायपुर (Raipur)। बाल शोषण (child abuse) के खिलाफ कार्रवाई करते हुए ऐसे अपराध रोकने के लिए मंगलवार को सीबीआई ने देशभर में दर्जनों ठिकानों पर दबीश (raid on locations) दी है। एजेंसी ने मंगलवार को 14 राज्यों के 77 ठिकानों पर छापेमारी (Raid) कर 10 लोगों को हिरासत में लिया है। इसी के तहत छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी कार्रवाई की गई है।

नेशनल सेन्ट्रल ब्यूरो (National Central Bureau) (इन्टरपोल-इण्डिया) ने इस दौरान अनेक जगहों से कई आपत्तिजनक चीजों (objectionable things) को जब्त किया है। सीबीआई से मिली जानकारी के अनुसार लगभग 83 आरोपियों के खिलाफ 23 मामले दर्ज किया गया है।

सोशल मीडिया के जरिए बच्चों के यौन शोषण का आरोप
इन पर आरोप है कि वे लोग अलग-अलग सोशल मीडिया के जरिए बच्चों के यौन शोषण से जुड़ी सामग्री प्रसारित करने में लगे हुए थे। ये भी आरोप है कि वे लोग बाल यौन शोषण से जुड़े वीडियो, उनके लिंक शेयर करके गैर-कानूनी तरीके से कमाई कर रहे थे।

यहां की गई छापेमारी
सीबीआई की टीम ने छत्तीसगढ़ के कोरबा (Korb) में भी छापेमारी की है। यहां की गई कार्रवाई के अनुसार सीबीआई ने केस दर्ज कर तिरुपति, कनेकल (आन्ध्र प्रदेश), दिल्ली, कोन्च-जालौन, मऊ, चन्दौली, वाराणसी, गाजीपुर, सिद्धार्थनगर, मुरादाबाद, नोएडा, झांसी, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश), जूनागढ़, भावनगर, जामनगर (गुजरात), संगरुर, मलेरकोटला, होशियारपुर, पटियाला (पंजाब), पटना, सिवान (बिहार), यमुना नगर, पानीपत, सिरसा, हिसार (हरियाणा), भद्रक, जाजपुर, ढ़ेकनाल (ओडिशा), त्रिरूवलूर, कोयम्बटूर, नमक्काल, सलेम, तिरुवन्नामलाई (तमिलनाडु), अजमेर, जयपुर, झुंनझुनु, नागौर (राजस्थान), ग्वालियर (मध्य प्रदेश), जलगॉव, सलवाड़, घुले (महाराष्ट्र), कोरबा (छत्तीसगढ़) और सोलन (हिमाचल प्रदेश) में छापे मारे।

100 देशों से 5000 से अधिक की संलिप्तता
सीबीआई ने कहा कि शुरुआती तौर पर पता चला है कि 50 से ज्यादा समूह से 100 देशों से 5000 से अधिक नागरिकों की संलिप्तता हो सकती है। सीबीआई अपनी सहयोगी एजेंसियों के साथ औपचारिक और अनौपचारिक माध्यमों से समन्वय कर रही है। छापेमारी अभी जारी है और इसमें और मोड़ भी आ सकते हैं।

ये उपकरण जब्त
अभी तक की छापेमारी के दौरान सीबीआई ने कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, मोबाइल और लैपटॉप आदि जब्त किए हैं। यह पता चला है कि कुछ लोग बाल यौन शोषण सामग्री को बेचने के काम में भी संलिप्त थे। एजेंसी ने कहा कि हम अभी जांच कर रहे हैं और मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी।

(TNS)