खात्मे की तैयारीः छत्तीसगढ़ में 7 माह लगातार चलेगा नक्सल अभियान

नारायणपुर (Narayanpur)। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों (Naxalites) के खात्मे के लिए सात माह का लक्ष्य रखा गया है। इस दौरान लगातार नक्सल अभियान (Operation) चलाया जाएगा। सुरक्षा संबंधी जायजा लेने पहुंचे आंतरिक सुरक्षा सलाहकार (Internal Security Advisor) के. विजय कुमार ने अबुझमाड़ के सोनपुर का निरीक्षण (Inspection) के बाद एसपी नारायणपुर के साथ हुई बैठक में उक्त बातें कहीं।

सोमवार को आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार जिला नारायणपुर के प्रवास पर रहे। इस दौरान उन्होंने जिले के घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र अबुझमाड़ (Abujhma) के सोनपुर का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने 53वीं बटालियन आईटीबीपी कैम्प का निरीक्षण कर जवानों से चर्चा की। इसके बाद उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों और डीआरजी टीम प्रभारियों की बैठक ली।

जवानों की हौसला अफजाई की
थाना सोनपुर में के. विजय कुमार नेे जवानों से मिलकर उनकी हौसला अफजाई की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों और डीआरजी कमांडर्स को निर्देशित किया कि आगामी 7 माह तक निरंतर प्रभावी नक्सल अभियान संचालित किया जाए।

ये रही उपलब्धि
बता दें कि आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार ने हाल ही में पुलिस अधीक्षक गिरिजा शंकर जायसवाल के नेतृत्व में 10 लाख रुपए के ईनामी नक्सली, कंपनी नंबर-06 का कमाण्डर साकेत नुरेटी उर्फ भास्कर के एनकाउण्टर करने पर एसपी नारायणपुर और डीआरजी जवानों की तारीफ की।

ऐसे अभियान चलाकर पुलिस करेगी कीर्तिमान स्थापित
इस दौरान के. विजय कुमार नेे अपेक्षा की कि पुलिस आगामी दिनों में इसी तरह प्रभावी नक्सल अभियान चलाते हुए नक्सलवाद के खात्मे के लिये विशेष किर्तिमान स्थापित करेगी। श्री कुमार ने कहा कि जैसा कि आप सबको ज्ञात है कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र के विकास में पुलिस और सशस्त्र बल के जवानों का महत्वपूर्ण योगदान होता है। अतः न सिर्फ प्रभावी नक्सल अभियान संचालित किएं जाएं, वरन् क्षेत्र के विकास कार्यों और यहां के आम नागरिकों के सर्वांगीण विकास में भी उल्लेखनीय कार्य करें।

ये अधिकारी मौजूद रहे
के. विजय कुमार के साथ ओरछा प्रवास के में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विवेकानंद सिन्हा, महानिरीक्षक बी.के. मेहता (बीएसएफ), महानिरीक्षक संजीव रैना (आईटीबीपी), उप महानिरीक्षक अखिलेश्वर सिंह (बीएसएफ), पुलिस अधीक्षक गिरिजा शंकर जायसवाल, (आईपीएस) सेनानी भानूप्रताप सिंह (45वीं बटालियन, आईटीबीपी), सेनानी समर बहादूर सिंह (29वीं बटालियन आईटीबीपी), उप सेनानी पूदम सिंह बग्गा (53वीं बटालियन, आईटीबीपी), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अक्षय कुमार (आईपीएस), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चन्द्राकर और उप पुलिस अधीक्षक अनुज कुमार सहित जिले के पुलिस वरिष्ट अधिकारी और डीआरजी कमाण्डर्स उपस्थित रहे।

(TNS)