लड़का कर रहा था परेशान तो लड़कियों ने ट्वीट कर मांगी मदद, 10 मिनट बाद पहुंच गई आरपीएफ की टीम

सोशल मीडिया

बिलासपुर। एक भी फिर सोशल मीडिया ( Social Media) की ताकत दिखी। दरअसल, कोरबा की दो लड़कियां मुंबई-हावड़ा मेल (Mumbai-Howrah Mail) में सफर कर रही थीं। एसी-3 बोगी में सफर के दौरान एक युवक लड़कियों को परेशान करने लगा। लड़कियों को जब ट्रेन के लोगों से मदद नहीं मिली, तो उन्होंने सीधे बिलासपुर आईजी रतनलाल डांगी (IG Ratanlal Dangi) को ट्वीट (Tweet) कर दिया। आईजी को ट्वीट कर उन्होंने अपनी परेशानी बताई और साथ ही मदद मांगी। साथ ही अपनी बोगी, सीट नंबर सहित सारा ब्योरा दिया।

बताया गया कि सोमवार की रात करीब साढ़े 9 बजे आईजी रतनलाल डांगी के पास ये ट्वीट आया था। आईजी ने जैसे ही ट्वीट को देखा, उन्होंने तुरंत जीआरपी मुंबई को लड़कियों की परेशानी को लेकर ट्वीट किया। आईजी के ट्वीट पर जीआरपी मुंबई (GRP Mumbai) ने भी तुरंत एक्शन लेते हुए कंट्रोल रूम से संपर्क किया और फिर कंट्रोल रूम से तत्काल आरपीएफ और ऑन ड्यूटी पुलिस को संबंधित बोगी में भेजा गया।

करीब 10 मिनट के बाद ही आरपीएफ की टीम दोनों लड़कियों के पास मदद के लिए पहुंच गई। जलगांव-भुसावल के पास लड़कियों के लिए आरपीएफ की टीम मदद के लिए पहुंच गई थी। जीआरपी ने इस मामले में कार्रवाई के बाद तुरंत ही आईजी बिलासपुर को रिप्लाई भी किया और बताया कि लड़कियों तक मदद पहुंचा दी गई है।

तुरंत एक्शन से बड़ी मदद
इस मामले में बिलासपुर आईजी ने बताया कि मुझे रात करीब साढ़े 9 बजे के आसपास ट्वीट मिला था, जिसके बाद मैंने जीआरपी मुंबई को संबंधित जानकारी साझा की। जीआरपी मुंबई ने भी इस पूरे प्रकरण पर तुरंत एक्शन लिया, बच्चियों तक तुरंत मदद पहुंची। जीआरपी की त्वरित कार्रवाही भी सराहनीय है। मैं अपील करता हूं कि सोशल मीडिया का सदुपयोग सही कार्यों के लिए करें।