पुलिस की मंत्रणाः अफवाह फैलाने वालों पर नजर, सोशल मीडिया मॉनिटरिंग सेल करेगी कार्रवाई

राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभागार में मीटिंग हुई, जिसमें सोशल मीडिया (फेसबुक, व्हाट्सएप, इन्स्टाग्राम, टेलीग्राम, ट्वीटर आदि) पर धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक व विभिन्न प्रकार के ग्रुपों और व्यक्तियों द्वारा अफवाह फैलाने वालों को चिन्हाकिंत करने के निर्देश दिए गए।


राजनांदगांव (rajnandgaon)।
नगरीय निकाय चुनाव को देखते हुए शासन-प्रशासन सक्रिय हो गया है। खासकर सोशल मीडिया (social media) पर गलत संदेश (wrong message) देने वालों पर नजर (eye) रखी जा रही है। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) भूपेश बघेल के आदेशानुसार सोशल मीडिया (social media) मॉनिटरिंग सेल (monitoring cell) का गठन किया गया है। राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक (Police Officer) डी. श्रवण के निर्देशन पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ASP राजनांदगांव प्रज्ञा मेश्राम के नेतृत्व में सोशल मीडिया मॉनिटरिंग टीम की पहली बैठक (meeting) की गई।

राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभागार में मीटिंग हुई, जिसमें सोशल मीडिया (फेसबुक, व्हाट्सएप, इन्स्टाग्राम, टेलीग्राम, ट्वीटर आदि) पर धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक व विभिन्न प्रकार के ग्रुपों और व्यक्तियों द्वारा अफवाह (rumour) फैलाने वालों को चिन्हाकिंत करने के निर्देश दिए गए।

इस मीटिंग में खासतौर पर धार्मिक उन्माद फैलाने, जातिगत टिप्पणी, फोटो-वीडियो, मैसेज वायरल करने वालों पर निगाह रखने और समय रहते त्वरित कार्रवाई करने, पोस्ट डिलीट करवाने, ग्रुप एडमिन को सचेत करने एवं इस तरह सोशल मीडिया के माध्मय से किसी भी प्रकार की भ्रांति या अप्रिय घटना घटने की संभावना हो तो समय रहते पोस्ट करने वाले एवं एडमिन की पहचान कर उनके विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए।

मीटिंग में नगर पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव गौरव राय और उप पुलिस अधीक्षक (ऑप्स) मानपुर/नोडल अधिकारी सोशल मीडिया जिला राजनांदगांव लोकेश देवांगन और जिले के समस्त थाना/चौकी/कैम्प के सोशल मीडिया मॉनिटरिंग टीम के अधिकारी/ कर्मचारी उपस्थित हुए।

(TNS)