एक दिसंबर से समर्थन मूल्य पर शुरू हो रही है छत्तीसगढ़ में धान खरीदी, जानिए खास बातें

रायपुर। छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर एक दिसंबर से शुरू हो रही धान खरीदी के लिए तैयारी पूरी हो गई है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी मयंक चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में पंडित दीनदयाल उपाध्याय सभाकक्ष में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी व्यवस्था के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रशिक्षण सत्र में खाद्य नियंत्रक, सहकारिता विभाग, सहकारी बैंक, कृषि, जिला विपणन के अधिकारी-कर्मचारी के साथ अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), तहसीलदार, जिला स्तरीय सेक्टर अधिकारी, खरीदी केंद्र के नोडल अधिकारी, खरीदी प्रभारी, कंप्यूटर आपरेटर भी शामिल हुए।

अधिकारियों ने बताया कि सभी धान खरीदी केंद्रों में आर्द्रतामापी से धान की नमी की जांची जाएगी और 17 प्रतिशत से अधिक नमी होने पर उसकी खरीदी नहीं होगी। किसानों को राशि का भुगतान डिजिटल तरीके से सीधे उनके बैंक खातों में किया जाएगा।

बताते चलें कि खरीफ वर्ष 2021-22 में प्रदेश के किसानों से धान खरीदी की अधिकतम सीमा 15 क्विंटल प्रति एकड़ लिकिंग सहित निर्धारित की गई है। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में मक्का खरीदी की अधिकतम सीमा 10 क्विंटल प्रति एकड़ लिकिंग सहित निर्धारित की गई है। रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार ने समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की संपूर्ण अवधि के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है। अधिकारी खरीदी केंद्रों का सप्ताह में कम से कम एक बार निरीक्षण करेंगे।

इस दर पर होगी खरीदी
रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार ने बताया कि वर्ष 2021-22 के लिए औसत अच्छी किस्म (एफएक्यू) के धान एवं मक्का के खरीदी के लिए धान कामन के लिए 1940 रुपये प्रति क्विंटल, धान ग्रेड ए के लिए 1960 रुपये प्रति क्विंटल और मक्का के लिए 1870 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर खरीदी की जाएगी। वहीं खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के दौरान राज्य के किसानों से धान की नकद व लिकिंग में खरीदी एक दिसंबर से 31 जनवरी 2022 तक की जाएगी। समर्थन मूल्य पर किसानों से मक्का की खरीदी एक दिसंबर से 28 फरवरी 2022 तक की जाएगी।

(TNS)