प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र की तर्ज पर छत्तीसगढ़ के 169 शहरों में खुलेंगी सस्ती दवा की 188 दुकानें

20 अक्टूबर को मुख्यमंत्री करेंगे शुभारंभ, योजना का नाम होगा श्री धन्वंतरी दवा योजना

रायपुर। केन्द्र सरकार के प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र की तर्ज पर छत्तीसगढ़ सरकार भी सस्ती दवा की दुकानें खोलने जा रही है। सस्ती दवा की दुकानें यानी जेनरिक दवा की दुकानें। छत्तीसगढ़ सरकार श्री धन्वंतरी दवा योजना के नाम से यह सुविधा शुरू करने की तैयारी कर चुकी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 20 अक्टूबर को इसका शुभारंभ करेंगे। पहले चरण में 85 दुकानें खोली जाएंगी। इसके बाद अलग-अलग शहरों में बाकी की दुकानों को भी खोला जाएगा।

योजना के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा है कि गरीबों और वंचित वर्गों तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। इसी क्रम में सरकार श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स शुरू करने जा रही है। दाम कम होने से दवाएं सभी की पहुंच में होंगी। इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। ताकि दवाइयों पर होने वाले खर्च का बोझ कम हो सके। इस योजना के माध्यम से हम सब्बो स्वस्थ-जम्मो सुग्घर की परिकल्पना को साकार करने में सफल होंगे। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने कहा है कि सेवा जतन सरोकार-छत्तीसगढ़ सरकार, हमारी सरकार का आदर्श वाक्य है। योजना के माध्यम से शासन द्वारा इसे चरितार्थ किया जा रहा है।

योजना के तहत खोली जा रही दुकानों में 251 दवाइयों, 27 सर्जिकल आइटम साहित अन्य सामग्री उपलब्ध होगी। लघु वनोज संघ द्वारा निर्मित गुणवत्तापूर्ण हर्बल उत्पाद भी इन दुकानों में मिलेंगे। इन दुकानों में देश की अच्छी कंपनियों की जेनरिक दवाइयों की बिक्री की जाएगी। दवाओं पर एमआरपी से 50 प्रतिशत से ज्यादा की छूट मिलेगी। श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर संचालकों को 2 रुपए प्रति वर्गफुट की दर से नगर पालिक निगम द्वारा किराये पर दुकानें उपलब्ध कराई जा रही हैं। साथ ही इन मेडिकल स्टोर्स से अन्य योजनाओं में भी दवाइयां खरीदने का आश्वासन भी दिया गया है। योजना के सफल संचालन की जिम्मेदारी जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित यूपीएसएस को दी गई है। योजना के आगामी चरण में इन दुकानों से दवा की होम डिलीवरी की भी व्यवस्था की जायेगी।
(TNS)