शेयर मार्केट पर ओमिक्रॉन का संक्रमण: कुछ मिनटों में 10 लाख करोड़ रुपये का हुआ नुकसान

चंद मिनटों में कई करोड़ रुपये के नुकसान से निवेशकों में मायूसी का माहौल छाया हुआ है। इसके एक्सपर्ट्स की मानें तो बाजार में अभी और हाहाकार मचने की आशंका है। उनका मानना है क्योंकि यूरोपियों देशों में ओमिक्रॉन का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है।

 

मुंबई। कोरोना के दो लहर के बाद से पूरा विश्व हिल चुका है। संक्रमण के डर से पूरी दुनियां में कारोबार अब तक पूरी तरह पटरी पर नहीं आ पाया है। अब तीसरी लहर की आशंका है। कोरोना (Corona) के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) पैर पसार रहा है। इसकी आशंका में शेयरमार्केट पर भी असर पड़ने लगा है।

कहा जाए ओमिक्रॉन आदमी के साथ आमदनी को भी संक्रमित कर रहा है। इसका असर शेयर बाजार पर दिखने लगा है। सप्ताह के पहले दिन ही शेयर बाजार में कोहराम मच गया। कुछ ही देर में लोगों का निवेशकों के करोड़ों रुपये डूब गए। एक मिनट के भीतर 10 लाख करोड़ रुपये का बड़ा नुकसान हुआ है।

एक ही झटके में पैसों को पानी में बहा दिया
शेयर बाजार की कमजोर स्थिति को देखते हुए कहा जाए कि वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की नजर आमदनी पर लग गई है। शेयर बाजार पर इसका असर इतना खतरनाक हुआ है कि एक ही झटके में पैसों को पानी में बहा दिया। सोमवार को शेयर बाजार खुलते ही धड़ाम से नीचे जा गिरा।

खुलने के केवल 10 मिनट के अंदर बाजार धड़ाम
शेयर गिरने से सेंसेक्स में 1000 अंक और निफ्टी में 200 अंकों से ज्यादा गिरावट के साथ ही बाजार पूरी तरह हिल गया है। चंद मिनटों के भीतर ही पूरा बाजार धड़ाम हो गया। ऐसे में निवेशकों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। आश्चर्य की बात ये है कि बाजार खुलने के केवल 10 मिनट के अंदर ही 10 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

प्री-ओपन सेशन में घरेलू बाजार गिरावट में था
शेयर बाजार के अनुसार प्री-ओपन सेशन में घरेलू बाजार 0.50 फीसदी से अधिक की गिरावट में थे। जैसे ही सेशन ओपन हुआ, बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी दोनों एक फीसदी से अधिक फिसल गए। सुबह 10:30 बजे तक यह गिरावट करीब ढाई फीसदी तक पहुंच गई। बाजार में चारों तरफ हाहाकार का माहौल रहा। सेंसेक्स के 30 में से 29 शेयरों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई।

बाजार में अभी और हाहाकार मचने की आशंका
शेयर बाजार के कारोबारियों में बेहद निराशा है। चंद मिनटों में कई करोड़ रुपये के नुकसान से निवेशकों में मायूसी का माहौल छाया हुआ है। इसके एक्सपर्ट्स की मानें तो बाजार में अभी और हाहाकार मचने की आशंका है। उनका मानना है क्योंकि यूरोपियों देशों में ओमिक्रॉन का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। ब्रिटेन, जर्मनी समेत कई यूरोपियन देशों में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से हजारों की संख्या में आ रहे हैं। इसका सीधा असर वैश्विक और घरेलू बाजार पर दिखेगा।

(TNS)