अब ईई पर गिरी सीएम की गाज, लापरवाही की शिकायत पर हुए सस्पेंड, आधे घंटे में आदेश जारी

सीएम भूपेश बघेल की भेंट मुलाकात

रायपुर। बलरामपुर दौरे के दूसरे दिन सीएम बघेल की गाज सनावल के ईई पर गिरी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रामानुजगंज विधानसभा क्षेत्र के सनावल में भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान जनता की शिकायत पर कन्हर अंतर्राज्यीय परियोजना के अंतर्गत भू-अर्जन प्रकरणों के त्वरित निराकरण में लापरवाही बरतने के कारण कार्यपालन अभियंता कार्यालय अधीक्षण अभियंता श्याम बरनई परियोजना मण्डल अम्बिकापुर उमाशंकर राम को निलंबित कर दिया।

मुख्यमंत्री ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि इस महत्वाकांक्षी सिंचाई परियोजना के लिए अपनी जमीन देने वाले किसानों के हितों की रक्षा सर्वोपरि है, इस कार्य में लापरवाही कतई बर्दाश्त नही की जाएगी। निलंबित अवधि में उमा शंकर राम का मुख्यालय कार्यालय मुख्य अभियंता मिनीमाता हसदेव (बांगो) परियोजना बिलासपुर निर्धारित किया गया है।सीएम बघेल के निर्देश के बाद महज आधे घंटे में ही विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिया गया।

बता दें सीएम भूपेश बघेल ने बुधवार से प्रदेश के विधानसभा क्षेत्रों का दौरा शुरू किया है। इसकी शुरुआत उन्होंने बुधवार को बलरामपुर जिले के सामरी विधानसभा से की थी। उनका काफिला कुसमी गावं में उतरा था। यहां पर एक महिला ने राशन कार्ड नहीं होने व उनका नाम गरीबी रेखा की लिस्ट से काट दिए जाने की शिकायत की थी। इस शिकायत के बाद सीएम बघेल के निर्देश पर नगर पंचायत सीएमओ को सस्पेंड कर दिया था।

आज जलसंसाधन विभाग के ईई पर हुई कार्रवाई
सीएम भूपेश ने दौरे के दूसरे दिन रामानुजगंज विधानसभा क्षेत्र के गांवों में पहुंचे। यहां वे सनावल में भेंट मुलाकात की। सीएम बघेल को बताया गया गया के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर उमाशंकर राम  कन्हार अन्तर्राज्यीय सिंचाई परियोजना के भू-अर्जन प्रकरणों में लापरवाही बरत रहे हैं। शिकायत के बाद सीएम बघेल काफी नाराज हुए और तत्काल विभागीय अधिकारियों से बात कर जल संसाधन विभाग के ईई उमाशंकर राम को सस्पेंड करने का निर्देश दिया।