नक्सलियों ने उखाड़ा रेलवे ट्रैक, ट्रेन में बैनर-पोस्टर भी लगाए किरंदुल-जगदलपुर की आवाजाही बंद

गढ़चिरौली मुठभेड़ के विरोध में छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा और मध्य प्रदेश में आज बंद का आह्वान

दंतेवाड़ा। जिले में किरंदुल-विशाखापट्टनम मार्ग (Kirandul-Visakhapatnam Route) पर झिरका के जंगल में नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक (Railway Track) उखाड़ दिया। इससे मालगाड़ी के लगभग 5 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस घटना के बाद किरंदुल से जगदलपुर तक ट्रेन (Train) की आवाजाही बंद कर दी गई है।

इस घटना की सूचना के बाद जवान (Force) मौके पर पहुंच चुके हैं। जानकारी के मुताबिक शुक्रवार रात करीब 8.35 मिनट पर झिरका के जंगल में भांसी और कमालूर के बीच नक्सलियों ने मालगाड़ी डिरेल की है। मालगाड़ी के पहिए ट्रैक से उतरने के बाद वहां मौजूद दर्जनों माओवादियों ने इंजन में बैनर पोस्टर भी लगा दिए।

नक्सलियों ने गढ़चिरौली में हुई मुठभेड़ में मारे गए अपने 27 साथियों को श्रद्धांजलि दी है। इस मुठभेड़ के विरोध में छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा और मध्य प्रदेश में 27 नवंबर को बंद का आह्वान किया है।

ट्रेनों की गति धीमी, इसलिए ऐसी घटना
नक्सलियों ने 6 महीने पहले भांसी-कमालूर के पास ही रेलवे पुल के ऊपर एक पैसेंजर ट्रेन को डिरेल किया था। हालांकि उस समय लोको पायलट ने अपनी सूझबूझ दिखाई थी, जिससे बड़ा हादसा टल गया था। यह इलाका पूरी तरह से नक्सलियों का गढ़ है, इसलिए इस इलाके में ट्रेनों की रफ्तार काफी धीमी की जाती है। जिस वक्त पैसेंजर ट्रेन डिरेल हुई थी, उस समय केवल इंजन ही ट्रैक से नीचे उतरा था। रात भर कड़ी मशक्कत करने के बाद मार्ग को बाहर किया गया था। यात्रियों को सुरक्षित जिला मुख्यालय लाया गया था।

(TNS)