मणिपुर माओवादी हमले में रायगढ़ के कर्नल विप्लव त्रिपाठी शहीद, पत्नी और बेटे की भी मौत

कर्नल विप्लव त्रिपाठी अपने पिता और बेटे के साथ. फाइल फोटो.

रायपुर। मणिपुर के चुराचन्पुर में शनिवार को माओवादियों ने बड़ा हमला किया। इस हमले में छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के रहने वाले कर्नल विप्लव त्रिपाठी समेत 4 लोग मारे गए हैं। मरने वालों में शहीद विप्लव के अलावा उनकी पत्नी अनुजा त्रिपाठी और पांच वर्षीय बेटा अबीर त्रिपाठी भी शामिल हैं। विप्लव त्रिपाठी के शहीद होने की खबर मिलते ही रायगढ़ में उनके निवास पर लोगों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। माओवादियों ने आज सुबह करीब साढ़े 11 बजे हमला किया, जिसमें विप्लव परिवार सहित शहीद हो गए। विप्लव 46 असम रायफल में पदस्थ्य थे। विप्लव के पिता सुभाष त्रिपाठी रायगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार हैं।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मणिपुर राज्य के चुराचन्दपुर जिले के ग्राम सियालसी के समीप हुए माओवादी हमले की निंदा की है। मिली जानकारी के मुताबिक यह घटना आज पूर्वान्ह 11.30 बजे उस वक्त घटित हुई, जब कर्नल विप्लव त्रिपाठी, बिहांग को-पोस्ट का विजिट कर वापस लौट रहे थे। सियालसी गांव के पास एम्बुस लगाएं माओवादियों ने हमला कर दिया, जिसमें वे और उनके परिवार के लोग शहीद हो गए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माओवादी हमले को कायराना कृत्य करार देते हुए इसकी कड़े शब्दों में भर्त्सना की है। उन्होंने कर्नल विप्लव त्रिपाठी की शहादत को नमन करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।

 

प्तनी के साथ कर्नल विप्लव| फाइल फोटो

कल पहुंच सकता है पार्थिव शरीर

रायगढ़ में सुभाष त्रिपाठी के घर के बाहर लोगों का जमावड़ा लग गया। शहीद के घर लोग उनके परिजनों को ढांढस बांधने पहुंच रहे हैं। उम्मीद की जा रही है कि रविवार को शहीद व उनकी पत्नी और बच्चे का पार्थिव शरीर रायगढ़ पहुंचेगा। इसके बाद अंतिम संस्कार की प्रक्रिया की जाएगी। हालांकि इसको लेकर फिलहाल कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है।