महोत्सवः छत्तीसगढ़ गीत सुन झूमे फॉरेनर्स, छत्तीसगढ़ी कलाकारों के साथ लगाए ठुमके

प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की शुरूआत साइंस कॉलेज मैदान में हो रही है। इस बार महोत्सव में 26 राज्यों और 5 केंद्र शासित प्रदेशों के अलावा 7 देशों के 12 सौ कलाकार पहुंचे हैं।

रायपुर। रायपुर (Raipur) के साइंस कॉलेज मैदान (Science College Ground) में आयोजित आदिवासी नृत्य महोत्सव (tribal dance festival) में शामिल होने 22 राज्यों (states) के कलाकारों के साथ ही फॉरेनर्स (foreigners) भी पहुंचे हैं। इस दौरान मुक्तांगन (Muktangan) में ‘छत्तीसगढ़ महतारी’ गाने की शूटिंग (Shooting) चल ही है। नृत्य देखते हुए विदेश से आए मेहमान अपने आप को नहीं रोक पाए। छत्तीसगढ़ी गाने पर यहां के कलाकारों के साथ ठुमके लगाए (danced), तो लोगों की भीड़ लग गई।

गीत की रचना को गायक पंडित विवेक शर्मा व गरिमा दिवाकर ने सुर दिया है। वहीं लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी छत्तीसगढ़ी अभिनेता प्रकाश अवस्थी, सीमा सिंह सहित पूरी टीम ने उठाया है। इसी गीत पर राजधानी स्थित मुक्तांगन में शूटिंग की जा रही थी, जहां विदेशों से आए कलाकार भी पहुंचे थे।

आदिवासी नृत्य महोत्सव में 7 देशों के कलाकारों की भागीदारी

आप को बता दें कि छत्तीसगढ़ में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की शुरूआत साइंस कॉलेज मैदान में हो रही है। इस बार महोत्सव में 26 राज्यों और 5 केंद्र शासित प्रदेशों के अलावा 7 देशों के 12 सौ कलाकार पहुंचे हैं।

देश के प्रसिद्ध आदिवासी नृत्य महोत्सव राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में रखा गया है। कार्यक्रम में नाइजीरिया, फिलीस्तीन सहित 7 देशों के अलावा मध्य प्रदेश, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, आंध्र प्रदेश, असम, उड़ीसा, तेलंगाना, गुजरात समेत 26 राज्यों तथा 5 केंद्र शासित प्रदेशों की टीम आई है। यही नहीं छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से आए 200 कलाकार भी अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे।
(TNS)