जो होना है वो होगा, 3 मई के बाद अगर लाउडस्पीकर पर अजान हुई तो मस्जिद के सामने दोगुनी आवाज में हनुमान चालीसा होगी : राज ठाकरे

राज ठाकरे ने कहा है कि हमने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए 3 मई तक के लिए अल्टीमेटम दिया था। लेकिन 3 मई को ईद है और इस उत्सव को हम खराब नहीं करना चाहते। 4 मई के बाद हम किसी की नहीं सुनेंगे।

राज ठाकरे

तीरंदाज, डेस्क। लाउड स्पीकर पर अजान को लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे और आक्रामक हो गए हैं। महाराष्ट्र के स्थापना दिवस पर औरंगाबाद में आयोजित सभा में मनसे चीफ ने चेतावनी दी कि यदि 3 मई ईद के बाद मस्जिदों से लाउड स्पीकर नहीं हटाए गए तो जो होना है वो होगा। बता दें की 3 मई को ईद है। राज ने कहा कि यदि 3 मई के बाद लाउडस्पीकर पर अजान हुई तो मस्जिद के सामने दोगुनी आवाज में हनुमान चालीसा का पाठ होगा। रैली में राज ठाकरे ने उद्धव ठाकरे पर हमला करते हुए कहा कि मेरी जनसभाओं से सरकार बौखला गई है।

राज ठाकरे एक तरह से सरकार को चेतावनी दे दी है। उन्होंने कहा है कि हमने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए 3 मई तक के लिए अल्टीमेटम दिया था। लेकिन 3 मई को ईद है और इस उत्सव को हम खराब नहीं करना चाहते। हम सरकार से अनुरोध करते हैं कि वह हमारी मांग पूरी करे, नहीं तो 4 मई के बाद हम किसी की नहीं सुनेंगे।

तो दोगुनी आवाज से होगी हनुमान चालीसा
मनसे प्रमुख बोले कि अगर हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो हम दोगुनी ताकत से हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। जहां अजान होगी, वहां हम हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। हमारे अनुरोध को नहीं समझा गया तो हम अपने तरीके से निपटेंगे। राज ठाकरे की चेतावनी के बाद महाराष्ट्र सरकार भी सकते में हैं। ईद पर मस्जिदों में अजान की आवाज को कैसे कम करे इस पर सरकार जद्दोजहद में है।

यूपी में लाउडस्पीकर बंद हो सकते हैं तो यहां क्यों नहीं
राज ठाकरे ने कहा कि यूपी में लाउडस्पीकर हटाए जा सकते हैं तो महाराष्ट्र में क्यों नहीं? औरंगाबाद संभाजी नगर में 600 मस्जिदें हैं, नियम सबके लिए समान होने चाहिए। उन्होंने कहा कि मस्जिदों पर लगे सभी लाउडस्पीकर अवैध हैं। राज ठाकरे ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए तो हम महाराष्ट्र को अपनी ताकत दिखाएंगे। मस्जिदों के सामने दोगुने लाउडस्पीकर लगाए जाएंगे और फिर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे।

शरद पवार पर भी साधा निशाना
मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने रैली में शरद पवार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि शरद पवार ने कुछ दिन पहले हम पर आरोप लगाया कि मेरे भाषण समाज को बांट रहे हैं। उन्होंने कहा कि जाति विभाजन के लिए शरद पवार ही जिम्मेदार हैं। शरद पवार अपने भाषणों में छत्रपति शिवाजी का जिक्र तक नहीं करते। राज ठाकले ने तंज कसते हुए कहा कि कुछ दिन पहले हमने कहा था कि शरद पवार ईश्वर को नहीं मानते, तो अगले ही दिन उनकी पूजा की तस्वीरें सामने आईं। मनसे चीफ राज ठाकरे ने कहा कि हम ऐसे घर में पैदा हुए हैं, जहां हमें कभी जातिवाद नहीं सिखाया।