दहेज कम मिलने से खफा पति ने पत्नी का नहीं कराया इलाज, महिला ने जहर खाकर दी जान

बिलासपुर। तखतपुर क्षेत्र में एक युवक ने सिर्फ इसलिए अपनी बीमार पत्नी का इलाज नहीं कराया क्योंकि उसे शिकायत थी कि उसे दहेज कम मिला है। इससे परेशान होकर विवाहिता ने अपने घर में जहर खा लिया और इलाज के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई। मामले की जांच के बाद तखतपुर पुलिस ने आरोपित पति, सास और ससुर को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है।

तखतपुर थाना प्रभारी मोहन भारद्वाज ने बताया कि रमेश साहू की एक साल पहले अलका से शादी हुई थी। दहेज कम मिलने का ताना देकर वह अलका को प्रताड़ित करने लगा। वहीं, सास कांतिबाई और ससुर सियाराम भी अपनी बहू को दहेज कम लाने पर ताने देते थे। अलका ने इसकी जानकारी अपने मायके वालों को दी, तो उन्होंने आकर रमेश और उसके मां पिता से बात कर उन्हें समझाया-बुझाया।

बीते दिनों अलका की तबीयत खराब हो गई। इस पर दहेज कम लाने का ताना मारते हुए उन्होंने अलका का इलाज नहीं कराया। यह बात पता चलने पर अलका के पिता बलराम ने उसका इलाज कराया। ठीक होने के बाद पांच अक्टूबर को अलका को उन्होंने उसके ससुराल पहुंचा दिया। 12 अक्टूबर को अलका ने फोन पर अपने पिता को बताया कि उसकी तबीयत खराब है।

वहीं, शाम को उसके मामा ससुर नीलकंठ ने भी फोन कर बताया कि अलका की तबीयत खराब है। उसे निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है। 13 अक्टूबर की सुबह बलराम अपनी पत्नी यमुनोत्रि के साथ अस्पताल पहुंचे, तो पता चला कि अलका ने जहर खा लिया है, जिसकी वजह से रात आठ बजे उसकी मौत हो गई।

इस पर पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया। इसके बाद से पुलिस मामले की जांच कर रही थी। पुलिस ने पति समेत सास और ससुर के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर सोमवार को गिरफ्तार कर लिया है।

(TNS)